ख़तरे में हैं आपके पशु, तेज़ी से फ़ैल रहा है ‘Lumpy’ रोग

0
216

पशु पालना भी किसी चुनौती से कम नहीं होता है। हमारी तरह ही पशु भी बीमार होते हैं। सही इलाज न मिलने पर उनकी मृत्यु भी हो सकती है। गौवंशीय पशुओं में बढ़ रहे ‘Lumpy’ त्वचा रोग की रोकथाम के लिए प्रदेश सरकार ने टीम-9 का गठन किया है।

प्रदेश के पशुधन एवं दुग्ध विकास कैबिनेट मंत्री धर्मपाल सिंह ने ‘Lumpy’ रोग के प्रभावी नियंत्रण एवं बचाव के लिए युद्धस्तर पर काम करने के लिए टीम-09 को ‘Lumpy’ रोग से प्रभावित सात मण्डलों में 29 अगस्त से तीन सितम्बर तक छह दिवसीय अभियान चलाकर ज़रूरी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। बता दें कि लंपी स्किन बीमारी बेकाबू हो चुकी है। जिले में तीन हजार से ज्यादा पशु बीमार हो चुके है। बुधवार(24 अगस्त) को नागल में भी दो पशुओं की मौत हो गई। पशुओं के मरने और बीमारी के कारण पशुपालकों को काफी नुकसान हो रहा है। वहीं पशुपालकों के सामने रोजी रोटी का संकट भी खड़ा हो गया है। पशुपालन विभाग बीमारी की रोकथाम करने और पशुओं के इलाज का दावा कर रहा है।

प्रशासन तो इसकों लेकर चिंतित है ही पशुपालकों में भय व्याप्त है। हर कोई इस भय में है कि कही उनके पशुओं में बीमारी न लग जाए। बुधवार को ‘Lumpy’ स्किन बीमारी के चलते कई पशुओं की मौत हो गई। पिछले एक सप्ताह से बीमारी के कारण प्रतिदिन किसी न किसी पशु की मौत हो रही है। प्रशासन की ओर से बीमारी को लेकर लगातार मॉनटरिंग की जा रही है। बीमारी को लेकर कंट्रोल रुम की स्थापना की गई है। जहां से हर ब्लॉक पर नज़र रखी जा रही है। टीम-9 में पशुधन मंत्री धर्मपाल सिंह की अध्यक्षता में अपर मुख्य सचिव पशुधन डा. रजनीश दुबे को मुरादाबाद मण्डल की लगातार निगरानी के लिए नामित किया गया है।

यह भी पढ़ें – अब Delhi में इलाज कराने में नहीं होगी परेशानी, अगले साल शुरू होंगे 11 नए Hospital

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है