आज रखा जा रहा है Yogini Ekadashi का व्रत, ज़रूर सुनें या पढ़ें व्रत कथा

0
121

आज देश में Yogini Ekadashi का व्रत रखा जा रहा है। Ekadashi तिथि भगवान विष्णु को अतिप्रिय होती है। इस दिन विधि- विधान से भगवान विष्णु की पूजा- अर्चना की जाती है। भगवान विष्णु की पूजा करने से सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं। हिंदू धर्म में Ekadashi तिथि का बहुत अधिक महत्व होता है। हर माह में दो बार Ekadashi तिथि पड़ती है। एक कृष्ण पक्ष में और एक शुक्ल पक्ष में। साल में कुल 24 Ekadashi पड़ती हैं।

आषाढ़ माह के कृष्ण पक्ष में पड़ने वाली Ekadashi को Yogini Ekadashi के नाम से जाना जाता है। Ekadashi के दिन व्रत कथा का पाठ अवश्य करना चाहिए। जो लोग पाठ नहीं कर सकते हैं उन्हें Ekadashi कथा सुननी चाहिए।

जानें, Yogini Ekadashi की व्रत कथा

प्राचीन काल में अलकापुरी नगर में राजा कुबेर के यहां हेम नाम का एक माली रहता था। उसका काम हर दिन भगवान शिव के पूजन के लिए मानसरोवर से पुष्प लाना था। एक दिन उसे अपनी पत्नी के साथ स्वछन्द विहार करने के कारण फूल लाने में बहुत देर हो गई। वह दरबार में देरी से पहुंचा।

इस बात से क्रोधित होकर कुबेर ने उसे कोढ़ी होने का श्राप दे दिया। श्राप के प्रभाव से हेम माली इधर-उधर भटकता रहा और एक दिन दैवयोग से मार्कण्डेय ऋषि के आश्रम में जा पहुंचा। ऋषि ने अपने योग बल से उसके दुखी होने का कारण जान लिया। तब उन्होंने उसे Yogini Ekadashi का व्रत करने को कहा। व्रत के प्रभाव से हेम माली का कोढ़ समाप्त हो गया और उसे मोक्ष की प्राप्ति हुई।

यह भी पढ़ें – 24 June – इस राशि के जातक आज किसी अपरिचित व्यक्ति पर न करें अंधविश्वास

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है