योगी सरकार का सख्त निर्देश किसी भी तरह का प्रदर्शन बर्दाश्त नहीं

0
460
yogi

लखनऊ: फ्रांस के राष्ट्रपति द्वारा इस्लामिक आतंकवाद’ संबंधी बयान के खिलाफ कई मुस्लिम देश एक साथ होकर फ्रांस का बहिष्कार कर रहें हैं। राष्ट्रपति के बयान के बाद उनके विरोध में लगी आग की चिन्गारी भारत में पहुंच गई है। भारत के कई शहरों में मुसलमान इकठ्ठा होकर फ्रांस के राष्ट्रपति के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहें हैं। वहीं उत्तर पआरदेश की योगू सरकार ने इस मामले पर साफ कह दिया है कि इस तरह का कोई भी प्रदर्शन बर्दाश्त नहीं किया जायेगा।

यूपी डीजीपी कार्यालय की तरफ से अलर्ट जारी कर कहा गया है कि हिंसा और उपद्रव करने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा। साथ ही संवेदनशील जिलों में पेट्रोलिंग बढ़ाने के निर्देश भी दिए गए हैं। सरकार पश्चिमी उत्तर प्रदेश पर खास नजर रखे हुए है।

यूपी के बरेली और अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में फ्रांसीसी राष्ट्रपति मैक्रों के बयान के विरोध में प्रदर्शन किये गए। इस दौरान, प्रदर्शनकारियों ने फ्रांस विरोधी नारेबाजी भी की।

वहीं, मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में भी प्रदर्शन हुए। यहां कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद के नेतृत्व में बड़ी संख्या में लोग सड़कों पर उतरे और फ्रांस के राष्ट्रपति के खिलाफ नारे लगाये। पुलिस ने शांति भंग करने और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों के उल्लंघन का मामला दर्ज कर लिया है। वहीं, भाजपा ने कांग्रेस से कट्टरपंथ पर अपनी स्थिति साफ करने की मांग की है।