Free Ration: Yogi सरकार हुई सख़्त, राशन ले जाने वाले वाहनों में लगाया गया GPS ट्रैकिंग सिस्टम

0
251

Ration के वितरण को लेकर लम्बे वक़्त से चली आ रही शिकायतों पर अब विराम लगने जा रहा है। UP में करोड़ों लोगों को हर महीने सरकार की तरफ से मुफ्त राशन(Free Ration) का वितरण होता है। लोगों को Ration समय पर और सही मिले इसकी लगातार कोशिश हो रही है। नई व्यवस्था के तहत एफसीआई गोदाम से गेहूं-चावल सीधे कोटेदारों को दिया जाएगा। जिन गाड़ियों के गेहूं-चावल भेजा जाएगा उनकी मॉनिटरिंग भी होगी। गाड़ियों पर GPS लगाया गया है, ताकि गाड़ी कहीं इधर-उधर जाए तो पता चल जाए।

नई व्यवस्था को Ration की सिंगल स्टेज व्यवस्था नाम दिया गया है। राजधानी लखऩऊ में गुरुवार से Ration की सिंगल स्टेज व्यवस्था लागू हो गई। मंडलायुक्त रंजन कुमार व जिलाधिकारी सूर्यपाल गंगवार ने अगले माह वितरित होने वाले गेहूं-चावल से भरे ट्राकों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। नई व्यवस्था के तहत गेहूं व चावल एफसीआई के गोदाम से सीधे कोटेदारों तक पहुंचेगा। इससे Ration वितरण में लेटलतीफी और घटतौली पर लगाम लगेगी।

गेहूं-चावल को कोटेदार तक पहुंचाने के लिए अभी तक डबल मेहनत और डबल खर्च लगता था। यानी एक स्टेज में Ration एफसीआई से उठकर विपणन शाखा के गोदाम जाता था। स्टेज टू में विपणन शाखा के गोदाम से Ration दुकानों पर जाता था। दो तरह से ठेकेदार लगते। अब इन दोनों स्टेज को खत्म कर सिंगल स्टेज व्यवस्था लागू की गई है।

डीएसओ सुनील कुमार सिंह ने बताया कि राजधानी में संचालित 1243 कोटे की दुकानों (ग्रामीण 605 व नगरीय 638) पर तालकटोरा स्थित भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) के गोदाम से सीधे Ration पहुंचाया जाएगा। इस मौके पर संभागीय खाद्य नियंत्रक व संयुक्त आयुक्त खाद्य मौजूद रहे। सस्ता गल्ला विक्रेता परिषद के प्रदेश उपाध्यक्ष प्रकाश सिंह ने सिंगल स्टेज व्यवस्था का स्वागत किया है।

डीएसओ ने बताया कि कोटेदारों की दुकानों तक Ration पहुंचाने वाली गाड़ियों में GPS ट्रैकिंग डिवाइस लगी है। इससे गाड़ियों के गोदाम से निकलने और कोटेदार की दुकान तक पहुंचने को ट्रैक किया जाएगा। गाड़ी इधर-उधर जाती है तो उसकी निगरानी होगी। इस योजना के लागू होने से कोटेदारों को अब अपने साधन से Ration नहीं उठाना पड़ेगा।

यह भी पढ़ें – Shamshera में Vaani Kapoor का लुक देखकर यूज़र्स बोले ये तो…

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है