World Ozone Day 2022: न करें पर्यावरण से छेड़छाड़ वरना उठाना पड़ेगा भारी नुकसान 

0
1008

प्रकृति ने हमें जो भी दिया है वो हमारे फायदे के लिए दिया है ऐसे में हमारा भी फ़र्ज़ बनता है कि हम उसे किसी प्रकार की हानि न पहुंचाए। Ozone Layer के बारें में तो आपने भी सुना होगा। हर साल Ozone Layer के बारे में लोगों को जागरूक करने के मकसद से ही 16 सितंबर को World Ozone Day मनाया जाता है। वायुमंडल में Ozone Layer सूर्य से निकलने वाली हानिकारक अल्ट्रावाइलट किरणों से पृथ्वी को बचाती हैं। सूर्य से निकलने वाली ये किरणें त्वचा रोग समेत कई बीमारियों का कारण बन सकती हैं। Ozone Layer गैस की ऐसी परत है, जो पराबैंगनी किरणों से हमें बचाती है। यह परत हमारे लिए एक फिल्टर का काम करती है, जो मनुष्य और धरती पर मौजूद अन्य जीवों को पराबैंगनी किरणों के हानिकारक प्रभाव से बचाती है। इसलिए इसका संरक्षण करना है बेहद जरूरी है। कहना गलत नही होगा कि Ozone की परत के बिना पृथ्वी पर जीवन मुमकिन नहीं होता। हर साल Ozone Layer के संरक्षण के लिए एक अलग थीम तैयार करके लोगों को इसके महत्व के बारे में जानकारी दी जाती है। इस बार World Ozone Day 2022 की थीम Global Cooperation Protecting life on Earth (पृथ्वी पर जीवन की रक्षा करने वाला वैश्विक सहयोग) रखी गई है।

जानें, क्या है Ozone Layer

Ozone (ओ3) हमारे वायुमंडल का सबसे बाहरी आवरण है। ये परत ऑक्सीजन के तीन परमाणुओं से मिलकर बनी बिना गंध वाली गैस है। यह धरती पर सूर्य की हानिकारण अल्ट्रावाइलट किरणें पहुंचने नहीं देती। लेकिन प्रदूषण ने Ozone में छेद कर दिए हैं जिससे बीमारियों का खतरा बढ़ा है। बता दें कि पृथ्वी से निकलने वाली रासायनिक गैसें Ozone Layer को नुकसान पहुंचाती हैं। कई वैज्ञानिकों का कहना है कि रेफ्रिजरेटर और AC Ozone Layer को नुकसान पहुंचा रहे हैं।

इस साल हुई Ozone Day की शुरूआत

World Ozone Day पहली बार साल 1995 में मनाया गया था। यह दिवस धरती पर पर्यावरण के प्रति जागरूरता व Ozone Layer की अहमियत के कारण मनाया जाता है। सूर्य का प्रकाश जीवन बनाती है, लेकिन Ozone Layer जीवन बनाती है जैसा कि हम जानते हैं कि यह संभव है। जब 1970 के दशक के अंत में काम करने वाले वैज्ञानिकों को पता चला कि मानवता इस सुरक्षात्मक ढाल में एक छेद बना रही है, तो उन्होंने आवाज उठाई। इस पर वैश्विक प्रतिक्रिया निर्णायक थी। 1985 में दुनिया की सरकारों ने Ozone Layer के संरक्षण के लिए वियना कन्वेंशन को अपनाया। कन्वेंशन के मॉन्ट्रियल प्रोटोकॉल के तरह सरकारों, वैज्ञानिकों और उद्योग ने सभी ओजोन-क्षयकारी पदार्थों को 99 प्रतिशत हिस्से को काटने के लिए मिलकर काम किया। 16 सितंबर को आयोजित World Ozone Day, इस उपलब्धि का जश्न मनाता है। यह दर्शाता है कि एक साथ लिए गए फैसले और कार्यवाही, विज्ञान द्वारा निर्देशित प्रमुख वैश्विक संकटों को हल करने का एकमात्र तरीका है।

यह भी पढ़ें – Happy Engineer’s Day 2022: जानें देश के महान इंजीनियर डॉ विश्वेश्वरैया के बारे में

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है