Bihar: 8 घंटे से ज़्यादा काम कराने पर कामगारों को देना होगा दोगुना वेतन

0
433

हर इंसान अपने वक़्त के मुताबिक काम करता है और वक़्त पूरा होते ही घर की तरफ निकल जाता है लेकिन कभी कभी काम ज़्यादा होता है, मालिक लोग बड़ी आसानी से बोल देते हैं कि दो मिनट की ही तो बात है काम पूरा करके ही जाओ लेकिन अब कोई मालिक ऐसा नहीं कर पाएगा। अब Bihar के कल-कारखानों में आठ घंटे से ज़्यादा काम कराने पर कामगारों को दोगुना वेतन देना होगा। श्रम संसाधन विभाग ने इसके लिए नियमावली बना दी है।

श्रम संसाधन विभाग के इस निर्णय का लाभ राज्य के निबंधित आठ हजार से अधिक फैक्ट्री के दो लाख से अधिक कामगारों को होगा। विभाग ने कामगारों व नियोक्ताओं के बीच बेहतर संबंध बनाने के लिए नियमावली बनाई है। इसके तहत तय किया गया है कि निबंधित कारखानों में काम करने वाले कामगारों से तय अवधि में ही काम लिया जाए। एक कामगार से अधिकतम आठ घंटे ही काम लिया जाएगा।

नए नियम के अनुसार इस तरह सप्ताह में एक साप्ताहिक अवकाश को मिलाकर कामगार से अधिकतम 48 घंटे ही काम लिया जा सकेगा। विशेष परिस्थिति में अगर कोई नियोक्ता चाहे तो वे कामगार से आठ घंटे से ज़्यादा काम ले सकते हैं लेकिन एक दिन में अधिकतम 12 घंटे तक ही काम लिया जा सकेगा। अगर आपातकालीन स्थिति में कामगारों से एक दिन में 12 घंटे से अधिक काम लिए गए तो किसी वर्ष की एक तिमाही में 125 घंटे ही कामगारों से काम लिए जाएंगे। तय समय से अधिक काम कराने पर विभाग ने साफ कर दिया है कि अगर कोई कामगार आठ घंटे से अधिक काम करेगा तो उसे ओवरटाइम के तौर पर दोगुना वेतन देना होगा। कामगारों को यह राशि दैनिक या मासिक के तौर पर दी जा सकेगी। कामगारों के काम की प्रवृत्ति एक तरह की होगी। अगर कोई कामगार दो तरह के काम करना चाहें तो राज्य सरकार से उसकी अनुमति लेनी होगी। विशेष परिस्थतियों के आधार पर ही कामगारों को एक से अधिक प्रवृत्ति के काम करने की अनुमति दी जाएगी।

यह भी पढ़ें – तहज़ीब तमीज़ के साथ ईद की दावत में पहुंची Sushmita Sen

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है