ईडी के रडार पर रिया और उसका परिवार

सुशांत सिंह राजपूत खुदकुशी मामले की जांच के दौरान जिस तरह की बातें सामने आ रही हैं, उससे साफ लगने लगा है कि सुशांत की मौत के पीछे वाकई गहरा राज है, जिससे पर्दा उठा तो कई लोगों के चेहरे बेनकाब हो जाएंगे. इस बीच मामले की जांच के दौरान मुंबई पुलिस की कार्रवाई के साथ ही बिहार से मुंबई गई जांच टीम के साथ भेदभाव की खबरों के बाद महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार पर उंगलियां उठने लगी है. बिहार के आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को जबरन मुंबई में क्वारंटीन किए जाने के साथ ही बिहार पुलिस की टीम को खतरे के मद्देनजर बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे लगातार बयान दे रहे हैं कि मुंबई पुलिस सुशांत सिंह राजपूत मामले की जांच के दौरान बिहार पुलिस की टीम को परेशान कर रही है. इस बीच बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने सुशांत सिंह राजपूत मामले की सीबीआई से जांच कराने की सिफारिश की है, जिसके बाद माना जा रहा है कि जल्द ही केंद्रीय जांच एजेंसी सुशांत सिंह की खुदकुशी मामले से पर्दा उठाएगी. चलिए, इस पूरे मामले में अब तक क्या-क्या हुआ, इसकी तहें खंगालते हैं…

सुशांत का पैसा हाई स्पीड से बहाया गया

बीते 14 जून को सुशांत सिंह राजपूत की खुदकुशी के बाद फिल्म इंडस्ट्री के साथ ही देश-दुनिया के करोड़ों फैंस को गहरा आधात लगता है कि अपने करियर के अहम मुकाम पर सुशांत ने ऐसा कदम क्यों उठाया. बात निकली तो सुशांत के डिप्रेशन में आने की खबर सामने आई. फिर फ़िल्म इंडस्ट्री में भेदभाव और नेपोटिज्म पर लंबी बहस हुई और मुंबई पुलिस ने बॉलीवुड के कई बड़े चेहरों से पूछताछ की, जिसमें आदित्य चोपड़ा, संजय लीला भंसाली, शेखर कपूर समेत कई लोग थे. बाद में ये भी खबर आई कि सुशांत सिंह राजपूत पिछले 6 महीने से बायपोलर डिसऑर्डर नामक मानसिक समस्या से ग्रसित थे और एक दिन वो इतने परेशान हो गए कि उन्होंने खुदकुशी कर ली..

सुशांत सिंह केस में BMC और मुंबई पुलिस की आखिर क्या है मंशा !

इसके बाद केस में अचानक मोड़ तब आता है, जब सुशांत के पिता केके सिंह पटना स्थित राजीव नगर थाने में सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती के खिलाफ मामला दर्ज कराते हैं और रिया पर धोखाधड़ी, ब्लैकमेलिंग और सुशांत को खुदकुशी के लिए उकसाने का आरोप लगाते हैं. इसके बाद पूरा मामला ही पलट जाता है. फिल्म इंडस्ट्री में नेपोटिज्म और बॉलीवुड की काली सच्चाई से इतर सुशांत खुदकुशी का मामला प्यार और धोखा का हो जाता है. सुशांत की फैमिली के वकील कहते हैं कि मुंबई पुलिस को सुशांत के पिता केके सिंह ने पहले ही आगाह किया था कि उनके बेटे की जान को खतरा है, लेकिन मुंबई पुलिस ने लापरवाही दिखाई और रिया को बचाती रही. मुंबई पुलिस की इस मामले में खूब किरकिरी हुई. मुंबई पहुंची पटना पुलिस की टीम ने सुशांत के करीबियों से बातें की, जिनमें अंकिता लोखंडे और सुशांत के साथ पिछले कुछ वर्षों के दौरान रहे उनके कई दोस्त थे.

सबने यही बात कही कि सुशांत खुदकुशी नहीं कर सकता था, क्योंकि वह काफी जिंदादिल इंसान था और अपने सपनों को जीना चाहता था. सुशांत अपने आस-पास के लोगों को खुश रखता था और उन्हें मोटिवेट करता था. सुशांत को ऑर्गेनिक फार्मिंग करनी थी और इसके लिए वो सोच भी रहे थे, लेकिन सुशांत के पिता की मानें तो रिया ने सुशांत को ब्लैकमेल किया कि अगर सुशांत ने फिल्म इंडस्ट्री छोड़ी तो वो उन्हें मीडिया के सामने पागल साबित कर देगी. वहीं महाराष्ट्र की शिवसेना सरकार जिद पर अड़ी है कि सुशांत सिंह राजपूत खुदकुशी मामले की जांच के लिए महाराष्ट्र पुलिस काफी है. लेकिन अब नीतीश कुमार ने फ्रंट फूट पर आकर सुशांत खुदकुशी मामली की सीबीआई जांच की सिफारिश कर दी है. दरअसल, बिहार पुलिस, मुंबई पुलिस और ईडी की जांच में तालमेल दिख ही नहीं रहा है. सब अलग-अलग तरीके से मामले की जांच कर है ..

मुंबई पुलिस ने अगर समय रहते कार्रवाई की होती तो शायद सुशांत आज जिंदा होते और उन्हें परेशान करने वाले जेल की सलाखों के पीछे. अब मुंबई पुलिस साख बचाने के लिए बिहार पुलिस को परेशान करने लगी है और ये मामला धीरे-धीरे राजनीतिक होने लगा है, जहां शिवसेना पर आरोप लग रहे हैं कि वही फिल्म इंडस्ट्री के बड़े चेहरों को बचा रही है. कुछ भी हो, लेकिन राज कई हैं, जो सुशांत सिंह की इस मौत के पीछे की वजह हैं. उम्मीद है कि इसकी सीबीआई जांच होगी और राज से पर्दा हटेगा. रिया चक्रवर्ती का मुंबई पुलिस से क्या कनेक्शन है, इसकी जांच होनी चाहिए और साथ ही सुशांत की मौत के पीछे बॉलीवुड गैंग की क्या भूमिका थी, इन सवालों के भी जवाब ढूंढने चाहिए.

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है