एक तरफ जहां बैंक कर्मचारियों की Strike देखने को मिल रही है वहीं कपड़ों की फैक्ट्रियों में भी ताले लगे हुए दिखाई दिए। प्रस्तावित निजीकरण के विरोध में 9 यूनियनों के सम्मिलित संगठन United Forum of Banking Union ने Two-day nationwide bank strike से आज देशभर में Banking services प्रभावित हैं। वहीं मंगलवार को भी Strike के कारण जमा और Withdrawal, Check Clearance और Loan approval जैसी सेवाएं प्रभावित हो सकती हैं। Bank Employees की इस Strike के बीच आज तिरुपुर की कपड़ा इकाइयों में भी हड़ताल है।

Tamil Nadu में स्थित प्रमुख Textile Cluster तिरुपुर के परिधान निर्माता पिछले छह महीनों में धागे की कीमतों में बढ़ोतरी के विरोध में अपनी इकाइयों को बंद रखा है। तिरुपुर स्थित उद्योग के प्रतिनिधियों ने अपनी दुर्दशा के बारे में कहा कि धागे की कीमतें बढ़ने से उनकी स्थिति खराब हो गयी है। उन्होंने Central Government से धागे को विनियमित करने की भी मांग की। Tirupur Exporters Association के अध्यक्ष राजा शनमुगम ने कहा, ”हम चाहते हैं कि सरकार घरेलू उद्योग को धागे की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिये निर्यात को तुरंत नियंत्रित करे।

उन्होंने जोर दिया कि कच्चे माल का निर्यात तब तक नहीं किया जाना चाहिए, जब तक कि घरेलू उद्योग की जरूरतों को पूरा नहीं किया जाता है। रविवार को उन्होंने कहा, ”हम 15 मार्च को स्वैच्छिक बंद के माध्यम से जमीन पर अपना विरोध दर्ज करेंगे और इस मुद्दे को Ministry of Commerce के समक्ष उठाएंगे। हम प्रधानमंत्री कार्यालय को भी अपनी बात बताना चाहेंगे।

तिरुपुर स्थित दक्षिण भारत हॉजरीज Manufacturers Association के संयुक्त सचिव शशि प्रकाश अग्रवाल ने कहा कि पिछले साल अक्टूबर से अब तक धागे की कीमतों में 40-45 प्रतिशत की वृद्धि हुई है, जिससे उत्पाद की कीमतों में वृद्धि हुई है। अग्रवाल ने कहा, ”निर्यातक नये ऑर्डर लेने में असमर्थ हैं क्योंकि धागे की कीमतें International Market में नहीं बढ़ी हैं, जबकि हमारे कच्चे माल की कीमतें बढ़ गयी हैं।

यह भी पढ़ें: Suvendu Adhikari के पिता Sisir Adhikari BJP में होने जा रहे हैं शामिल!

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है