Mulayam Singh Yadav के अज़ीज़ Azam Khan ने क्यों बनाई अंतिम विदाई से दूरी

0
231

किसी के इस दुनिया से जाने पर सबसे ज़्यादा दुख उसके परिवारवालों और अज़ीज़ों को ही होता है। समाजवादी पार्टी के संस्थापक Mulayam Singh Yadav का निधन हो गया है। पीएम नरेंद्र मोदी, अमित शाह समेत देश के बड़े नेताओं ने नेताजी को श्रद्धांजलि अर्पित की है। अखिलेश यादव उनके शव को मेदांता अस्पताल से लेकर सैफई के लिए निकल पड़े हैं, जहां धरती पुत्र का मंगलवार को अंतिम संस्कार होगा। लेकिन Mulayam Singh Yadav की अंतिम विदाई से उनके करीबी दोस्त और सपा के संस्थापक सदस्यों में से एक आज़म खान (Azam Khan) दूर हैं।

सभी की निगाहें Azam Khan की तरफ लगी हुईं हैं कि आख़िर नेता जी से Azam Khan दूरी क्यों बनाए हुए हैं। अब आपको इस सवाल का जवाब भी बता देते हैं। दरअसल वह दिल्ली में इलाज करा रहे हैं। बीते दिनों ही उन्हें हार्ट अटैक आया था और बताया जा रहा है कि तब से ही वह अस्पताल में एडमिट हैं। रामपुर में मुलायम सिंह यादव का जन्मदिन मनाने की बात हो या फिर चुनाव प्रचार में उनके हमसाये की तरह मौजूदगी, आजम खान हमेशा नेताजी के दायें हाथ की तरह मौजूद रहे हैं। लेकिन उन्हें अंतिम विदाई देने नहीं पहुंच पाए हैं। यह उनके लिए बेहद भावुक लम्हा होगा, जब नेताजी के निधन की खबर तो उन्हें मिली, लेकिन वह पहुंचने में असमर्थ हैं।

Azam Khan और Mulayam Singh Yadav की केमिस्ट्री की चर्चा UP की सियासत में हमेशा से रही है। समाजवादी पार्टी के एमवाई समीकरण में भी इस जोड़ी का अहम योगदान रहा है। समाजवादी पार्टी और Mulayam Singh Yadav से Azam Khan का रिश्ता इतना अटूट था कि नाराजगी के दौर में भी कभी Azam Khan ने नेताजी पर सीधा अटैक नहीं किया।

सभी जानते हैं कि अमर सिंह के जब Mulayam Singh Yadav से बेहद करीबी रिश्ते थे तो Azam Khan ने अमर सिंह पर तीखे हमले किए। लेकिन Mulayam Singh Yadav पर हमेशा चुप्पी ही रखी। यही Azam Khan और मुलायम सिंह यादव के रिश्तों की मर्यादा थी कि मतभेद कभी नाराजगी में नहीं बदले और न कभी दूरियां पनपीं। इस घड़ी में मुलायम सिंह यादव को भले ही Azam Khan विदाई देने नहीं पहुंच पाए हैं। लेकिन उनके बेटे अब्दुल्ला आजम ने जरूर एक भावुक ट्वीट किया है। पिता आजम खान और Mulayam Singh Yadav की एक तस्वीर ट्वीट करते हुए अब्दुल्ला आजम ने लिखा, ‘जिसका जलवा रहेगा हमेशा कमज़ोरों के दिलो में क़ायम, बस उसी का नाम था मुलायम।’

यह भी पढ़ें – Mulayam Singh Yadav Passed Away : राजनीतिक गलियारों को ख़ामोश कर गए नेता जी

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है