मान गए सचिन पायलट, सुलह के लिए रखीं कुछ शर्तें

कई दिनों की जद्दोजहद के बाद आखिरकार राजस्थान में सब कुछ सही हो गया है या यूं कह लीजिए कि राजस्थान में कांग्रेस का संकट खत्म हो गया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ सचिन पायलट काम करने को राज़ी हो गए हैं। मामला सुलझने के बाद सचिन पायलट ने कहा कि पार्टी के हित में मुद्दों को उठाना जरूरी था, पद की लालसा नहीं, सम्मान की लड़ाई थी।

32 दिनों तक गहलोत से अदावत के बाद आखिरकार राजस्थान में पायलट की पलटन की घर वापसी हो गई। अब जयपुर में पायलट का इंतजार हो रहा है और राजस्थान कांग्रेस कह रही है कि जल्द सचिन अपने घर वापस आ जाएंगे। बता दें कि राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष और गहलोत सरकार में डिप्टी सीएम रहे सचिन पायलट ने सोमवार को पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी से मुलाकात की। सचिन पायलट ने हाईकमान के सामने अपनी समस्याएं रखीं और जारी सियासी गतिरोध दूर करने के लिए सुलह का फॉर्मूला भी सुझाया।

सचिन पायलट ने अगर मान ली ये शर्त तो पार्टी में उनका फिर से…

ऐसा बताया जा रहा है कि सचिन पायलट ने वापसी पर कुछ शर्ते रखीं हैं। सचिन पायलट ने कहा कि आलाकमान सार्वजनिक रूप से यह घोषणा करें कि अशोक गहलोत के बाद निकट भविष्य में राजस्थान के मुख्यमंत्री वही होंगे। उन्होंने गांधी परिवार से यह भी कहा कि यदि यह संभव नहीं हुआ तो उन्हें दिल्ली में राष्ट्रीय महासचिव का पद दिया जाए। इसके साथ ही उनके खेमे से दो वरिष्ठ विधायकों को गहलोत सरकार में डिप्टी सीएम का ओहदा दिया जाए।

सचिन पायलट ने अपने खेमे के अन्य विधायकों को भी मंत्रिमंडल में जगह देने, किसी बोर्ड, न्यास या निगम की कमान देने की भी मांग की। पार्टी नेतृत्व के साथ वार्ता की मेज़ पर आए पायलट ने पार्टी में अपनी सम्मानजनक वापसी के लिए यह शर्त भी रखी कि सार्वजनिक रूप से यह घोषणा की जाए कि राहुल गांधी की ओर से घोषणा पत्र में किए गए वादे लागू किए जाएंगे।

राहुल गांधी ने सचिन पायलट की बातें सुनने के बाद उनकी समस्याओं को दूर करने का आश्वासन दिया। साथ ही राहुल गांधी ने सचिन पायलट को राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष और राजस्थान सरकार में उपमुख्यमंत्री के पद पर लौटने का प्रस्ताव भी दे डाला। राहुल गांधी ने पायलट के सामने सरकार के कामकाज के लिए एक कमेटी बनाने का प्रस्ताव भी रखा।
सचिन पायलट ने आधी रात में ट्वीट करके कहा कि मैं सोनिया जी, राहुल जी, प्रियंका गांधी जी और कांग्रेस नेताओं को हमारी शिकायतों पर ध्यान देने और उन्हें संबोधित करने के लिए धन्यवाद देता हूं। मैं अपने विश्वास पर कायम हूं और राजस्थान के लोगों से किए गए वादों को पूरा करने और लोकतांत्रिक मूल्यों की रक्षा करने के लिए एक बेहतर भारत के लिए काम करना जारी रखूंगा।

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है