हनुमान मूर्ति से ख़ून निकलता देख गांववालों ने शुरू की पूजा, जानें क्या है ख़ून निकलने का सच

0
141

भगवान की मूर्ति हो और भक्त पूजा न करें ये तो मुमकिन ही नहीं है और अगर कुछ ऐसा हो जाये जो कभी न हुआ हो फिर तो भक्तों की भक्ति कुछ ज़्यादा ही बढ़ जाती है। मध्य प्रदेश के एक गांव में हनुमान जी की मूर्ति से अचानक लाल रंग का पानी निकलने लगा। इस पर गांव के लोगों ने दावा किया कि यह लाल रंग का पानी नहीं खून है। इसके बाद मूर्ति के पास ही अखंड मानस का पाठ शुरू हो गया। इसका वीडियो सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहा है।

इस वायरल वीडियो को सतना जिले के गांव बमुरहिया का बताया जा रहा है। इस गांव के पास रखी हनुमानजी की मूर्ति से मंगलवार(3 मई)-बुधवार की रात अचानक लाल पानी निकलने लगा। बस फिर क्या था हनुमानजी के पैर के पास से निकल रहे लाल पानी की खबर गांव में आग की तरह फैल गई। ग्रामीण दावा करने लगे कि यह लाल पानी नहीं बल्कि खून है। नागौद तहसील के गांव की हनुमानजी की मूर्ति से निकल रहे लाल पानी के बाद ग्रामीणों ने अखण्ड मानस शुरू कर दी। 24 घंटे के लिए बैठे मानस पाठ के बाद विशाल भंडारे का आयोजन भी किया जाएगा। जैसे-जैसे हनुमानजी की मूर्ति से लाल पानी निकलने का वीडियो लोगों तक पहुंच रहा है, दूरदराज के लोग भी बमुरहिया गांव के चमत्कार को नमस्कार करने पहुंच रहे हैं।

एक्सपर्ट्स का कहना है हनुमान मूर्ति से खून निकलने की बात केवल अंधविश्वास है। शासकीय स्वशासी स्नातकोत्तर महाविद्यालय, सतना के रसायन शास्त्र के पूर्व विभागाध्यक्ष डॉक्टर पीके मिश्रा ने बताया कि पोरस स्टोन से बनी मूर्तियों में हल्के-हल्के छिद्र होते हैं। चूंकि मूर्तियों में चंदन, सिंदूर आदि का लेपन किया जाता है। उन्हें जल चढ़ाया जाता है तो छिद्रों से वह अंदर चला जाता है जब ये भर जाते हैं तो धीरे -धीरे लेपन और पानी रिसते रहते हैं। गौरतलब है कि इस वाकए से दो माह पहले मध्य प्रदेश के कई जिलों से गणेश जी, शंकर जी और नंदी के दूध पीने की खबरें वायरल हुईं थीं।

यह भी पढ़ें – Eid का जश्न मनाने भाईजान के घर दोस्त से लेकर दुश्मन भी हुए शामिल

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है