UP Elections : मुस्लिम आबादी वाले जिलों में हाई Voting, इस बात का आख़िर क्या है संकेत 

0
177

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण का चुनाव सकुशल संपन्न हो गया। दूसरे चरण में 9 जिलों की 55 सीटों पर सोमवार(14 फरवरी) को 64 फीसदी से ज़्यादा Voting हुई, जो पहले राउंड के मुकाबले ज़्यादा है। पहले चरण में करीब 60 फीसदी मतदान हुआ था। यही नहीं जिलेवार आंकड़ों को देखें तो कुछ बड़े संकेत भी मिलते हैं।

दूसरे राउंड के उन जिलों में ज़्यादा Voting दर्ज की गई है, जहां मुस्लिम आबादी अधिक है। यही नहीं बरेली, शाहजहांपुर और बदायूं जैसे उन जिलों में Voting अपेक्षाकृत कम है, जहां मुस्लिम आबादी 25 फीसदी से कम है। ऐसे में यह आंकड़ा भाजपा की चिंताओं को बढ़ा सकता है। Voting प्रतिशत के आधार पर नतीजों को लेकर भले ही स्पष्ट तौर पर कुछ नहीं कहा जा सकता है, लेकिन इसे एक रुझान जरूर माना जा सकता है।

मुरादाबाद और बिजनौर में 66 फीसदी मतदान हुआ है। ये दोनों जिले भी 40 फीसदी से ज्यादा मुस्लिम आबादी वाले हैं। खासतौर पर मुस्लिम बहुल बूथों पर Voting प्रतिशत ज्यादा रहने की बातें सामने आई हैं। चुनावी विश्लेषकों का मानना है कि इससे मुस्लिम मतदाताओं के एकजुट होने की चर्चा है। इन चर्चाओं को इस बात से भी बल मिलता है कि बरेली, बदायूं, शाहजहांपुर जैसे जिलों में Voting प्रतिशत अपेक्षाकृत कम है, जहां मुस्लिम समुदाय की आबादी 25 फीसदी से कम है। बदायूं और शाहजहांपुर में मतदान का प्रतिशत 59 फीसदी ही रही है, जबकि बरेली में भी 61 फीसदी मतदान हुआ है।

अमरोहा में मुस्लिम समुदाय की आबादी 40 फीसदी से ज्यादा है और जिले की 4 सीटों पर सबसे ज्यादा 72 फीसदी मतदान हुआ है। जो पहले राउंड के भी किसी जिले के मुकाबले ज्यादा है। यहां एक और आंकड़े पर ध्यान देने की जरूरत है कि अमरोहा सदर और धौरहरा सीट पर Voting 70 फीसदी रही है। वहीं ग्रामीण और इनके मुकाबले ज्यादा मुस्लिम आबादी वाली सीटों हसनपुर और नौगांव सादात में Voting का प्रतिशत 74 फीसदी के करीब रहा है। दूसरे नंबर पर सहारनपुर जिला रहा है, जहां 70 फीसदी के करीब मतदान हुआ है। यहां मुस्लिम समुदाय की आबादी 42 फीसदी है।

यह भी पढ़ें – Single Use Plastic पर 1 जुलाई से लगेगा Ban, नहीं मिलेंगी ये चीज़ें 

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है