UP Election 2022: Swami Prasad Maurya ने छोड़ा BJP साथ, साइकिल पर हुए सवार!

0
361

चुनाव से पहले नेताओं का एक पार्टी को छोड़ कर दूसरी पार्टी में शामिल होना एक रिवाज सा है और इसी रिवाज का पालन अब BJP के नेता भी करने लगे हैं। एक तरफ तो BJP अपनी जीत का दावा कर रही है वहीं दूसरी तरफ BJP के नेता ख़ुद ही पार्टी छोड़ कर दूसरी पार्टी में शामिल होने का मन बनाने लगे हैं। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 से ठीक पहले Yogi Adityanath सरकार को बड़ा झटका लगा है। UP सरकार में श्रम मंत्री Swami Prasad Maurya ने कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया है।

यूपी चुनाव से पहले Swami Prasad Maurya के BJP छोड़कर समाजवादी पार्टी में शामिल होने का मन बना रहे हैं। सपा प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पार्टी में मौर्य का स्वागत किया है। बता दें कि Swami Prasad Maurya 2017 विधानसभा चुनाव से पहले BJP में आए थे। इससे पहले वे बसपा की मायावती सरकार में भी मंत्री रह चुके हैं। मंगलवार दोपहर को Swami Prasad Maurya ने ट्वीट कर यूपी कैबिनेट से इस्तीफे की जानकारी दी। बताया जा रहा है कि वे आगामी विधानसभा चुनाव में टिकट बंटवारे को लेकर BJP नेताओं से नाराज़ चल रहे थे।

Swami Prasad Maurya ने मंगलवार(11 जनवरी) को राज्यपाल को पत्र लिखकर अपना इस्तीफा भेजा। इसमें Swami Prasad Maurya ने लिखा कि उन्होंने विपरित परिस्थितियों और विचारधारा में रहकर भी मंत्री के रूप में बहुत ही मन से अपनी जिम्मेदारी निभाई। मगर दलित, पिछड़े, छोटे व्यापारी, किसान, बेरोजगारों के साथ उपेक्षा होने के चलते वे यूपी कैबिनेट से इस्तीफा दे रहे हैं।

पिछले कई दिनों से Swami Prasad Maurya के सपा में शामिल होने की चर्चा थी। वे अखिलेश यादव के संपर्क में थे। Swami Prasad Maurya के सपा में जाने के बाद योगी कैबिनेट के दो और मंत्रियों के इस्तीफे की अटकलें चल रही हैं। यूपी सरकार में मंत्री धर्म सिंह सैनी और दारा सिंह चौहान भी अपने पद से इस्तीफा दे सकते हैं। उनके भी सपा में जाने के कयास लगाए जा रहे हैं।

उत्तर प्रदेश (UP) में विधानसभा चुनावों की घोषणा के बाद से BJP को लगातार झटके पर झटके लगते जा रहे हैं। योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री Swami Prasad Maurya के बाद मंगलवार को 3 और भी विधायकों ने BJP छोड़ दी है। इनमें बांदा (Banda) जिले की तिंदवारी विधानसभा से विधायक ब्रजेश प्रजापति, शाहजहांपुर की तिलहर सीट से विधायक रोशनलाल वर्मा और कानपुर के बिल्हौर से विधायक भगवती सागर शामिल हैं।

इसके बाद सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने ट्वीट कर Swami Prasad Maurya के समाजवादी पार्टी में शामिल होने की जानकारी दी। अखिलेश ने कहा, “सामाजिक न्याय और समता-समानता की लड़ाई लड़ने वाले लोकप्रिय नेता स्वामी प्रसाद मौर्या एवं उनके साथ आने वाले अन्य सभी नेताओं, कार्यकर्ताओं और समर्थकों का सपा में ससम्मान हार्दिक स्वागत एवं अभिनंदन है।”

यह भी पढ़ें – UP Election Opinion Poll: जानें, क्यों की जा रही है BJP की जीत की भविष्यवाणी

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है