मलेशिया के प्रधानमंत्री महाथिर मोहम्मद ने अपने रूस दौरे के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुस्लिम धर्मगुर ज़ाकिर नायक को लेकर बातचीत की है।

पिछले काफी समय से मुस्लिम धर्मगुरु डॉ ज़ाकिर नायक चर्चा का विषय बने हुए हैं। भारत में रहने वाले बहुत सारे लोग उनकी गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। डॉक्टर ज़ाकिर नायक विदेश में रहकर बयान दे रहे हैं कि वह बिलकुल बेगुनाह है। दरअसल उन पर आतंकी गतिविधि में शामिल होने के लिए युवाओं को भड़काने का आरोप भी लगा हुआ है। और इन्हीं आरोपों के चलते भारत सरकार डॉक्टर जाकिर नायक को विदेश से वापस देश में लाने की कोशिश कर रही है। इसी वजह से मोदी सरकार पिछले काफी समय से मलेशियाई सरकार से बातचीत करने में लगी हुई थी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुस्लिम धर्मगुर ज़ाकिर नायक को लेकर बातचीत की है।डॉक्टर जाकिर नायक इस्लामी धर्म उपदेशक है जिनको सलाफी विचारधारा का आमी माना जाता है। जानकारी के लिए बता दें कि डॉक्टर जाकिर नायक इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन के संस्थापक भी हैं। इसके साथ ही वह पीस टीवी चैनल के संस्थापक भी है। साल 2016 की बात है जब डॉक्टर ज़ाकिर नायक भारत को छोड़कर मलेशिया चले गए थे तब मलेशिया सरकार ने डॉक्टर ज़ाकिर नायक को स्थाई तौर पर रहने की इजाजत दे दी थी हालांकि अब वहां की सरकार भी डॉक्टर जाकिर नायक से तंग नजर आ रही है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुस्लिम धर्मगुर ज़ाकिर नायक को लेकर बातचीत की है।जानकारी के मुताबिक मलेशिया के प्रधानमंत्री महाथिर मोहम्मद ने अपने रूस दौरे के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुस्लिम धर्मगुर ज़ाकिर नायक को लेकर बातचीत की है। जानकारी तो यह भी मिली है कि दोनों नेताओं ने नायक के प्रत्यर्पण को लेकर बातचीत की है। अब आगे देखने वाली यह बात होगी कि कब तक डॉक्टर ज़ाकिर नायक को वापस अपने देश लाया जाएगा।