गुरुद्वारे में शुक्रवार को हुई घटना का जारी वीडियो कुछ और ही कहानी बयां कर रहा है।

पाकिस्तान हमेशा ही अपने झूठे बयानों और अपनी गलती छुपाने के लिए सुर्खियों में बना ही रहता है। पाकिस्तान ने एक बार फिर यही काम किया है। दरअसल पाक ने ननकाना साहिब मामले में अचानक हुए हमले और तोड़फोड़ को लेकर अपना पल्ला झाड़ते हुए एक बार फिर झूठा बयान दिया है।

जानिए सिखों के लिए कितना महत्वपूर्ण है ननकाना साहिब

पाकिस्तान का पकड़ा गया सफेद झूठ- ननकाना साहिब मामला

उसने कहा कि दो मुस्लिम समूहों के बीच झगड़ा हुआ था, न कि गुरुद्वारे के अंदर किसी सिख को धमकी दी गई थी। साथ ही इल्जाम लगाते हुए कहा कि सिखों के पवित्र स्थल पर दो मुस्लिम समूहों के बीच हुए सामान्य झगड़े को सांप्रदायिक दंगे का रूप देना एक सोची समझी चाल है। लेकिन गुरुद्वारे में शुक्रवार को हुई घटना का जारी वीडियो कुछ और ही कहानी बयां कर रहा है। वीडियो में देखा जा सकता है कि सिखों को साफ तौर पर मारने की धमकी दी जा रही है। वायरल वीडियो के बाद पाक की और से ऐसा बयान आने पर भारतीय अधिकारियों ने कहा कि पाक सफेद झूठ बोल रहा है।

करतारपुर की आड़ में पाक के नापाक इरादे आए सामने…

पाकिस्तान का पकड़ा गया सफेद झूठ- ननकाना साहिब मामला

बता दें कि शुक्रवार को सिखों के पवित्र स्थल नानक साहिब गुरुद्वारे पर पत्थरबाजी का मामला अगस्त के समय की एक घटना से संबंधित  है। दरअसल ये मामला गुरुद्वारे के ग्रंथी की बेटी जगजीत कौर को अगस्त में अगवा कर जबरदस्ती उसका धर्म परिवर्तन कर शादी करवाने से जुड़ा है। सीख समुदाय ने इस मामले कि शिकायत पुलिस थाने में दर्ज करवाई थी। वहीं बात करें शुक्रवार को हुए इस हमले की तो यह हमला उसी लड़के के भाई के नेतृत्व में हुआ जिसके साथ जगजीत की जबरदस्ती शादी करवाई गई थी।