हिंसा भड़काने के लिए गुलाम कश्मीर के मासूम लोगों को ढाल भी बना रहा है।

यूएन समेत हर मोर्चे पर करारी शिकस्त झेल चुका पाकिस्तान अब एक ओर जहां अपनी सेना, आतंकियों और अलगाववादियों को साथ लेकर भारत-पाक सीमा पर नापाक हरकतें कर रहा है कि तो वहीं हिंसा भड़काने के लिए गुलाम कश्मीर के मासूम लोगों को ढाल भी बना रहा है। लेकिन कोशिश यही है कि इसमें पाकिस्तान सरकार का हाथ नजर ना आए।

new kashmir

वहीं पाकिस्तान के पीएम इमरान खान का डर एक बार फिर नजर आ रहा है। इमरान खान ने टवीट कर कहा है कि वह गुलाम कश्मीर में रह रहे कश्मीरी लोगों का दर्द भलीभांति समझते हैं लेकिन अगर कोइ भी कश्मीरी मानवता के आधार पर गुलाम कश्मीर से कश्मीर में लोगों की सहायता के लिए जाता है तो यह भारत के इशारों पर खेलने के बराबर होगा। इमरान ने यह भी लिखा कि भारत इसे दुनिया की नजर में पाकिस्तान के इस्लामिक आतंकवाद फैलाने के तौर पर दुष्प्रचार कर रहा है. यही नहीं अगर गुलाम कश्मीर के लोग कश्मीर में जाते हैं तो भारत कश्मीरियों पर और सख्ती करने के अलावा हमला करने का भी बहाना दे देगा।

कश्मीर के कई हिस्सों से लोगों को डरा-धमकाकर और इस्लाम के नाम पर भड़का कर मार्च में शामिल किया गया है।

new kashmir

सूत्रों की माने तो जेकेएलएफ के नेतृत्व में एलओसी मार्च कर सीमा लांघ भारतीय क्षेत्र में प्रवेश करने के लिए गुलाम कश्मीर के मुजफ्फराबाद में गत शुक्रवार को जुटाइ गई लोगों की भारी भीड़ चकोटी तक पहुंच गइ है। गुलाम कश्मीर के कई हिस्सों से लोगों को डरा-धमकाकर और इस्लाम के नाम पर भड़का कर मार्च में शामिल किया गया है। यह क्षेत्र उत्तरी कश्मीर के उड़ी सेक्टर के बिल्कुल सामने पड़ता है। वहीं पाकिस्तान की इस साजिश से पहले से सतर्क भारतीय सेना ने सीमा पर अलर्ट घोषित करते हुए सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त कर रखे हैं।