पाकिस्तान पर यह कार्यवाही ऑस्ट्रेलिया में की गई है, यह बैठक तकरीबन 2 दिन तक चली और पाकिस्तान पर यह बड़ा फैसला ले लिया गया।

पाकिस्तान की छवि आज ही नहीं बल्कि कई वर्षों से खराब ही रही है। जब से भारत से अलग होकर पाकिस्तान एक नया देश बना है तब से ही वह आतंक का अड्डा रहा है। कई वर्षों से पाकिस्तान के अंदर आतंकवादियों के ट्रेनिंग कैंप चलते आ रहे हैं। दुनियां का सबसे बड़ा आतंकवादी ओसामा बिन लादेन को भी अमेरिका ने पाकिस्तान में ही मार गिराया था। भारत का मोस्ट वांटेड हाफिज सईद पाकिस्तान में आज भी खुला घूमता है।

ऑस्ट्रेलिया में ब्लैक लिस्ट होने के बाद भारत के लिए यह बोला पाकिस्तान...

पुलवामा हमले के बाद भारत पाकिस्तान के रिश्ते में और भी खटास बढ़ गई थी। कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद भारत-पाकिस्तान के रिश्ते और भी ज्यादा बदतर हो गए हैं। कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने पर हाथ पैर मारते हुए पाकिस्तान के लिए एक बुरी खबर और आ गई है। पाकिस्तान को आतंकवाद पर सही लगाम ना लगाने की वजह से बड़ा झटका मिला है। पाकिस्तान को टेरर फंडिंग पर नजर रखने वाली अंतरराष्ट्रीय संस्था फाइनेंशियल एक्शन टास्क क्षेत्र की इकाई एशिया पेसिफिक ग्रुप ने ब्लैक लिस्ट कर दिया है।

कंगाल पाकिस्‍तान पर FATF का तमाचा कोई देश नहीं कर सकेगा मदद

जानकारी के लिए बता दें कि पाकिस्तान पर यह कार्यवाही ऑस्ट्रेलिया में की गई है। यह बैठक तकरीबन 2 दिन तक चली और पाकिस्तान पर यह बड़ा फैसला ले लिया गया। इस संस्था ने पाकिस्तान के लिए 11 मानक बनाए थे जिसमें पाकिस्तान 10 मानकों में फेल हो गया। ब्लैक लिस्ट होने के बाद पाकिस्तान को अब और भी ज्यादा आर्थिक संकट झेलना पड़ेगा।

ऑस्ट्रेलिया में ब्लैक लिस्ट होने के बाद भारत के लिए यह बोला पाकिस्तान...

ब्लैक लिस्ट होने के बाद पाकिस्तान पूरी तरह भारत के पीछे पड़ा हुआ है और इसकी भड़ास वह भारत से ही निकालना चाहता है। ब्लैक लिस्ट होने पर पाकिस्तान सरकार के मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने कहा है कि एएफपी कोई एफएटीए नहीं है, यह किसी भी देश को ब्लैक लिस्ट नहीं कर सकते। इसके बाद उन्होंने भारत पर अपना गुस्सा निकालते हुए कहा कि चरमपंथियों को लाने के लिए किसी देश को ब्लैक लिस्ट करना ही है तो वह भारत को करना चाहिए।

मुस्लिम समुदाय द्वारा पेरिस में नरेंद्र मोदी का स्वागत होता देख पाकिस्तान का यह बयान सामने आया…