समझौता एक्सप्रेस के बाद एक और भारतीय ट्रेन को रोका पाकिस्तान ने

0
553
समझौता एक्सप्रेस के बाद एक और ट्रेन को रोका पाकिस्तान ने

पाकिस्तान की बौखलाहट हुई स्पष्ट आर्टिकल 370 हटने के बाद

समझौता एक्‍सप्रेस को बंद करने के बाद पाकिस्‍तान के रेल मंत्री शेख राशिद अहमद ने शुक्रवार को एलान किया कि जोधपुर से कराची के बीच चलने वाली थार एक्‍सप्रेस सेवा को बंद कर दिया जाएगा। इससे पहले दोनों देशों के बीच चलने वाली समझौता एक्‍सप्रेस को पाकिस्‍तान ने अपनी सीमा के भीतर ही रोक लिया था। इस पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर पाकिस्‍तान के इन फैसलों को एकतरफा बताया। बयान में विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता रवीश कुमार ने पाकिस्‍तान की तरफ से किए गए फैसलों पर पुनर्विचार कर दूसरे देशों के अंदरुनी मामलों में दखल देने की हरकत से बाज आने को कहा है।

प्रवक्‍ता रवीश कुमार ने कहा, ‘पाकिस्‍तान द्वारा ताबड़तोड़ एकतरफा फैसले लेने का सिलसिला थम नहीं रहा है, बगैर हमसे संपर्क किए ही पाकिस्तान ये सारे फैसले किए जा रहा है। हमने उनसे इन फैसलों पर दोबारा विचार करने का आग्रह किया है। हमारा मानना है कि पाकिस्‍तान द्वारा जो भी किया जा रहा है वह दि्वपक्षीय संबंधों के लिए चेतावनी है। उन्‍होंने आगे कहा, ‘यह पाकिस्तान के लिए वास्तविकता को स्वीकार करने और अन्य देशों के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप बंद करने का समय है।’

आपको बता दें कि गुरुवार को पाकिस्‍तान से भारत आने वाली समझौता एक्‍सप्रेस को पाकिस्‍तानी क्रू मेंबर ने सीमा पर ही रोक दिया और आगे बढ़ाने से इंकार कर दिया। अटारी रेलवे स्‍टेशन के अधीक्षक ने बताया कि पाकिस्‍तान रेलवे के संदेश के बाद ट्रेन को यहां लाने के लिए कदम उठाया गया। पाकिस्‍तान के ड्राइवर और गार्ड ने भारत में ट्रेन को लाने से मना कर दिया था। इसके बाद हमने अपने चालक व गार्ड को इंजन के साथ भेजा।

दरअसल, जम्‍मू कश्‍मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्‍छेद 370 व 35 ए के प्रावधानों को हटाने व राज्‍य के पुनगर्ठन विधेयक को पारित किए जाने को लेकर पाकिस्‍तान की बेचैनी इस तरह के फैसलों से स्‍पष्‍ट तौर पर सामने आ रही है।