नेपाल ने फिर छेड़ा पुराना राग

0
197

केपी ओली कर रहे भड़काऊ बयानबाजी

जो नेपाल कभी भारत का अच्छा दोस्त हुआ करता था, वो नेपाल अब बात-बात पर भारत को आंखे दिखाने से गुरेज नहीं कर रहा। हाल ही में नेपाल ने अपना राजनीतिक नक्शा पास किया था जिसमें भारत के लिपुलेख, लिंपियाधुरा और कालापानी को नेपाल ने अपना हिस्सा बताया था। जिसके बाद नेपाल ने अपना पुराना राग दोबारा छेड़ दिया है और नेपाल अब हर हालत में भारत से इन तीनों इलाकों को वापस लेने की बात कर रहा है। नेपाल के प्रधानमंत्री केपी ओली की इस तरह की भड़काऊ बयानबाजी के बाद सीमा पर नेपाल की ओर से इन इलाकों में हलचल तेज हो गई है।

घरवालों ने राखी सावंत को किया परेशान

नेपाल के दारचुला में राजनीतिक गतिविधियां तेज हो गई हैं। बता दें कि दारचुला पिथौरागढ़ से सटा हुआ है। यहां तीनों विवादित इलाके मौजूद हैं। यहां नेपाली सरकार 87 किलोमीटर लंबी सड़क का निर्माण करवा रही है बता दें कि दोनों देशों के बीच रिश्ते पिछले साल तल्ख हो गए थे। दरअसल नेपाल सरकार ने संविधान में संशोधन करने के बाद राजनीतिक नक्शा पास किया था। जिसमें भारतीय इलाकों को नेपाल ने अपना बताया था। आपको बता दें कि इसके बाद भी कई बार कई मुद्दों को लेकर नेपाल भारत के विरोध में बयानबाजी करते नजर आ चुके हैं

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं