Myanmar: प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के लिए पुलिस ने चलाई गोलियां

Myanmar में सैन्य तख्तापलट के खिलाफ सड़कों पर प्रदर्शनकारियों उतर गए है पुलिस ने फिर बल किया। देश के दो बड़े शहरों में भीड़ को खदेड़ने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज और हवा में फायरिंग की। इस दक्षिण पूर्व एशियाई देश में गत एक फरवरी को हुए सैन्य तख्तापलट के बाद से विरोध प्रदर्शनों का दौर जारी है। वे सैन्य शासन खत्म करने के अलावा अपदस्थ सर्वोच्च नेता आंग सान सू की समेत दूसरे नेताओं को रिहा करने की मांग कर रहे हैं।

Veer Savarkar Death Anniversary: वीर सावरकर की पुण्यतिथि पर भारतरत्न लता मंगेशकर ने दी श्रद्धांजलि

Myanmar के सबसे बड़े शहर यंगून में शुक्रवार को सैकड़ों प्रदर्शनकारी सड़कों पर उतरे और नारेबाजी की। इस दौरान दंगा रोधी पुलिस ने उन्हें खदेड़ने के लिए हवा में गोलियां चलाई। भीड़ पर रबर की गोलियां चलाने की भी खबर है। प्रदर्शनकारियों ने बताया कि एक व्यक्ति घायल हुआ है। जबकि कुछ चश्मदीदों ने कहा कि कई लोगों को हिरासत में लिया गया है। इधर, देश के दूसरे सबसे बड़े शहर मांडले में भी प्रदर्शनकारियों पर बल प्रयोग किया गया। Myanmar में तख्तापलट के खिलाफ हो रहे विरोध प्रदर्शनों पर पुलिस कई बार फायरिंग कर चुकी है। इसमें कई लोगों की मौत भी हो चुकी है। जबकि यंगून में गुरुवार को तख्तापलट का विरोध कर रहे लोगों को सैन्य समर्थकों ने निशाना बनाया था। सैन्य समर्थकों ने गुलेल, लोहे की रॉड और चाकुओं से धावा बोला था। इनके हमले में कई प्रदर्शनकारी घायल हो गए थे। इस दौरान पुलिस मूक दर्शक बनी हुई थी।  यंगून में विरोध प्रदर्शन के दौरान युकी किताजुमी नामक जापानी पत्रकार को हिरासत में ले लिया गया। हालांकि उनको कुछ देर बाद ही छोड़ दिया गया। वह यंगून में एक मीडिया प्रोडक्शन कंपनी चलाते हैं।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है