मलेशिया के प्रधानमंत्री ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि भारत को इस मुद्दे के समाधान के लिए पाकिस्तान के साथ मिलकर काम करना चाहिए।

कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए हुए काफी दिन बीत चुके हैं लेकिन यह मुद्दा अभी भी पूरी तरह शांत नहीं हुआ है। शुरुआत में तो कुछ अलगाववादी नेता और कुछ विपक्षी पार्टियों के नेताओं के बयान ही आते थे लेकिन अब तो विदेशों से भी कश्मीर को लेकर बयान बाजी होती रहती हैं।

Image result for मलेशिया के प्रधानमंत्री यह सच है कि कश्मीर मुद्दे को लेकर बहुत सारे देश भारत के साथ है लेकिन कुछ देश ऐसे भी है जो पाकिस्तान का समर्थन कर रहे हैं। हाल ही में मलेशिया के प्रधानमंत्री ने भारत के खिलाफ बड़ा बयान दिया है।

कश्मीर में भारतीय सेना को मिली एक और बड़ी कामयाबी, मारा गया ये मुख्य आतंकी..

विदेशों से भी कश्मीर को लेकर बयान बाजी होती रहती हैं।

 विदेशों से भी कश्मीर को लेकर बयान बाजी होती रहती हैं।

महातिर ने संसद में संवाददाता सम्मेलन में पत्रकारों से कहा कि हमने महसूस किया है कि संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव से कश्मीर के लोगों को फायदा हुआ था और हम सभी यह कह रहे हैं कि हम न केवल भारत और पाकिस्तान बल्कि अमेरिका और अन्य देशों को भी इसका पालन करना चाहिए। कश्मीर मुद्दे पर मलेशिया प्रधानमंत्री पूरी तरह पाकिस्तान के सुर में सुर मिलाते हुए नजर आए।

यह पहली बार नहीं है जब मलेशिया के प्रधानमंत्री ने भारत के खिलाफ इस तरह का बयान दिया हो इससे पहले भी पिछले महीने संयुक्त राष्ट्र महासभा में भी कश्मीर मुद्दे को उठाकर महातिर ने आरोप लगाया था कि भारत ने आक्रमण करके जम्मू कश्मीर पर कब्जा किया है। इस दौरान मलेशिया के प्रधानमंत्री ने कहा कि हम जो भी करते हैं बिल्कुल सही तरीके से करते हैं और जो भी बोलते हैं बिल्कुल साफ बोलते हैं। हम अपने मन की बात बोलते हैं और हम इससे कभी भी नहीं पलटते हैं।