ईसाई धर्म के लिए बेहद खास है 25 दिसम्बर की तारीख़

देश दुनिया में आज क्रिसमस का त्यौहार मनाया जा रहा है। अक्सर लोगों के मन में ये सवाल उठता है कि 25 दिसम्बर को ही क्रिसमस क्यों मनाते हैं। ऐसा क्या है इस दिन जो इस तारीख़ में हर साल ये त्यौहार मनाया जाता हैं। क्रिसमस जीसस क्रिस्ट के जन्म की खुशी में मनाया जाता है। जीसस क्रिस्ट को भगवान का बेटा कहा जाता है। क्रिसमस का नाम भी क्रिस्ट से पड़ा। 25 दिसंबर को हर साल भारत समेत पूरी दुनिया में क्रिसमस का त्योहार मनाया जाता है। यह दिन प्रभु यीशू के जन्मोत्सव के रूप में मनाया जाता है। इस फेस्टिवल को ईसाई धर्म के अलावा बाकी धर्मों के लोग भी धूमधाम से मनाते हैं।

आज भी बहुत से ऐसे लोग हैं जो ये नहीं जानते कि बाइबल में जीसस की कोई बर्थ डेट नहीं दी गई है, लेकिन फिर भी 25 दिसंबर को ही हर साल क्रिसमस मनाया जाता है। इस तारीख को लेकर कई बार विवाद भी हुआ। लेकिन 336 ई. पूर्व में रोमन के पहले ईसाई रोमन सम्राट के समय में सबसे पहले क्रिसमस 25 दिसंबर को मनाया गया। इसके कुछ सालों बाद पोप जुलियस ने आधिकारिक तौर पर जीसस के जन्म को 25 दिसंबर को ही मनाने का ऐलान किया। तब से हर साल ये त्यौहार इसी दिन मनाया जाता है।

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है