Group of students walking in college campus after classes, back view

अब कॉलेज की लड़कियों के मेकअप करने, जूलरी पहनने पर भी लगा बैन

स्कूल में तो बच्चे यूनिफॉर्म पहन कर जाते हैं तो किसी को अमीर गरीब होने का एहसास नहीं होता लेकिन कॉलेज जाते ही ये भेदभाव साफ़ तौर पर नज़र आने लगता है। पाकिस्‍तान में एक यूनिवर्सिटी के नया ड्रेस कोड जारी पर विवाद शुरू हो गया है। मानशेरा में स्थित हजारा यूनिवर्सिटी ने कहा है कि पढ़ने आ रही लड़कियां टाइट जीन्‍स और टी शर्ट न पहनें। यही नहीं लड़कियों के मेकअप करने, जूलरी पहनने और बडे़-बडे़ हैंड बैग लाने पर भी बैन लगा दिया गया है।

पाकिस्‍तान में हजारा यूनिवर्सिटी के नया ड्रेस कोड जारी होते ही विवाद शुरू हो गया है। यूनिवर्सिटी ने लड़कियों के लिए ही नहीं बल्कि लड़कों के लिए भी कई कड़े प्रतिबंध लगाए हैं। यूनिवर्सिटी के इस आदेश का स्‍टूडेंट्स ने विरोध किया है। बता दें कि हजारा यूनिवर्सिटी ने लड़कों से कहा है कि वे टाइट जीन्‍स, शॉर्ट्स, चेन और स्‍लीपर पहनकर न आएं। इसी तरह से लड़कों को लंबे बाल रखने और पोनी टेल पर भी बैन लगा दिया गया है। स्‍टूडेंट्स से कहा गया है कि वे बिना आई कार्ड के यूनिवर्सिटी नहीं आएं। यूनिवर्सिटी ने अपने कर्मचारियों को भी कहा है कि वे साफ कपड़े पहनकर आएं। टीचर्स से कहा गया है कि वे लेक्‍चर के दौराना काला कोट पहनकर ही जाएं।

West Bengal: चुनाव से पहले CM Mamata Banerjee का बड़ा ऐलान

इस मुद्दे पर खैबर पख्‍तूनख्‍वा के मुख्‍यमंत्री के सलाहकार ने कहा कि इन नए आदेशों से अब स्‍टूडेंट ड्रेस पहनने की प्रतियोगिता की बजाय पढ़ाई पर फोकस करेंगे। उन्‍होंने यह भी कहा कि अब यूनिवर्सिटी में अमीर और गरीब छात्रों का अंतर खत्‍म हो जाएगा। बता दें कि टीचर्स पर भी टाइट जीन्‍स, स्‍लीपर और शॉर्ट्स पहनकर नहीं आने के लिए कहा गया है। इन नए नियमों को गत 29 दिसंबर को Academic Council की बैठक में लिया गया। इन नए आदेशों को खैबर पख्‍तूनख्‍वा के राज्‍यपाल शाह फरमान के आदेश पर जारी किया गया है।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं