पश्चिम बंगाल: बगावत के दौर से टेंशन में ममता दीदी

0
275

डेढ़ साल में चार सांसद, 14 विधायक छोड़ चुके हैं दीदी का साथ

पश्चिम बंगाल में इस साल विधानसभा चुनाव होने हैं लेकिन चुनाव से पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को झटके पर झटका लग रहा है। दरअसल  बीजेपी ने इस बार टीएमसी का किला ढ़हाने के लिए  पूरी तैयारी कर ली है। आलम ये हो चुका है कि पिछले डेढ़ साल में चार सांसद और 14 विधायक टीएमसी को टाटा कर चुके हैं और बीजेपी का दामन थाम चुके हैं

बगावत का ये दौर बीजेपी के लिए फायदेमंद हो रहा है वहीं टीएमसी की टेंशन बढ़ गई है। बगावत के इस सिलसिले में नया नाम पश्चिम बंगाल के वन मंत्री राजीव बनर्जी का जुड़ा है लेकिन ये कोई नई बात नहीं है। वहीं पश्चिम बंगाल में बगावत के इस दौर ने सियासी समीकरणों को बदल कर रखा दिया है

फर्जी रसीद काटकर वसूल रहा था मंदिर निर्माण के लिए चंदा

दरअसल बंगाल में 2019 से बगावत का सिलसिला तेज हो गया था। लोकसभा चुनाव के चंद महीनों पहले ये शुरू हुआ था। सबसे पहले मुकुल रॉय बीजेपी में शामिल हुए थे और उसके बाद इस लिस्ट में अनुपम हाजरा, सौमित्र खान जैसे नेताओं का नाम जुड़ता गया। विधायक अर्जुन सिंह भी बीजेपी में शामिल हुए जिन्हें लोकसभा चुनाव में इसका इनाम भी मिला पश्चिम बंगाल में बगावत का ये खेल क्या रंग दिखाता है ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा लेकिन बगावत के इस दौर ने ममता दीदी की बेचैनी जरूर बढ़ा दी है।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं