ताउते के बाद अब बंगाल की खाड़ी में चक्रवात यास (Cyclone Yaas)  से निपटने की चुनौती है। जिसको लेकर सरकार और सेना ने पूरी तैयारी कर ली है। गृह मंत्रालय भी इस पर पूरी तरह से नजर बनाए हुए है। वहीं नौसेना के चार जहाजों और हेलिकॉप्टरों के अलावा वायुसेना के भी 11 मालवाहक विमान और चीता, एमआई-17 और चेतक जैसे 25 हेलिकॉप्टर तैनात कर दिए गए हैं

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (Indian Meteorological Department) से मिली जानकारी के मुताबिक चक्रवात यास (Cyclone Yaas) 26 मई की शाम को पश्चिम बंगाल और उत्तरी ओडिशा के तट से टकरा सकता है। इस दौरान चक्रवात यास की रफ्तार 185 किलोमीटर प्रति घंटे रहने की संभावना जताई गई है। चक्रवात यास के बंगाल और उत्तरी ओडिशा के तटों से टकराने की वजह से यहां के तटीय जिलों में भारी बारिश भी हो सकती है। बंगाल की खाड़ी में कम दबाव के कारण उठने वाले तूफान यास (Cyclone Yaas) को लेकर मौसम विभाग ने पूर्वानुमान जताया है। मौसम विभाग की मानें तो आगामी 24 घंटों में यास गंभीर चक्रवाती तूफान में बदल सकता है

यास तूफान (Cyclone Yaas) के मद्देनजर सरकार भी अलर्ट नजर आ रही है। गृहमंत्री अमित शाह उच्च अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे हैं। बैठक में मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी और सेना के कुछ सीनिय अधिकारी भी मौजूद हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी तूफान यास के मद्देनजर अधिकारियों से बात की और जोखिम वाले इलाकों से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजने को कहा है।

यह भी पढ़ें: ‘टूलकिट’ मामले में B J P प्रवक्ता संबित पात्रा को नोटिस, पेश होने का दिया निर्देश

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है