पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज आता नहीं दिख रहा है. अब पाकिस्तान ने नई चाल चली है. मुंबई में हुए 26/11 हमले का मास्टरमाइंड और जमात-उद-दावा का चीफ हाफिज सईद को आंतकरोधी अदालत ने एक और केस में पंद्रह साल की सजा सुनाई है. अदालत ने हाफिज सईद पर दो लाख रुपयों का जुर्माना भी किया है. लाहौर की अदालत ने जमात-उद-दावा के प्रमुख हाफिज सहित 5 नेताओं को यह सजा सुनाई है।

बता दें कि हाफिज सईद को पहले से ही आतंकी फंडिंग के 4 मामलों में 21 साल की सजा सुनाई जा चुकी है. अब सईद को जेल में कुल 36 साल की सजा काटनी होगी. ये सभी सजा एक साथ चलेंगी. हालाकि पाकिस्तान ने सईद को जेल में वीआइपी प्रोटोकॉल दिया हुआ है.

जानकारी के अनुसार हाफिज सईद संयुक्त राष्ट्र का सूचीबद्ध आतंकवादी है. इस पर अमेरिका ने एक करोड़ डालर का इनाम घोषित किया था. यही वजह हो सकती है कि सईद को पाकिस्तान बचाने की कोशिश में लगा हुआ है. सईद को टेरर फंडिंग के मामले में जुलाई में गिरफ्तार किया गया था. फरवरी में उसको टेरर फंडिंग के दो मामलों में 11 साल की सजा सुनाई गई थी. जिसके बाद दो अन्य टेरर फंडिंग मामले में नवंबर में दस साल की सजा हुई. गुरुवार को सईद के साथ जिन चार नेताओं को सजा दी गई है, उनमें अब्दूस सलेम, जफर इकबाल, जेयूडी प्रवक्ता याह्या मुजाहिद और मुहम्मद अशरफ शामिल हैं. इन सभी नेताओं पर जुर्माना भी किया गया है

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है