दो-दो वैक्सीन के बाद भी नहीं थम रही कोरोना की रफ्तार

रूस में कोरोना वायरस की रफ्तार लगातार बढ़ती जा रही है। रूस में कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में 29,935 नए मामले सामने आए हैं, जो कि एक दिन के हिसाब से बहुत अधिक हैं। कोरोना वायरस की दो-दो वैक्सीन बनने का रूस में दावा किये जाने के बावजूद भी कोरोना संक्रमण का कहर लगातार जारी है।

हालही में कोरोना वैक्सीन स्पुतनिक वी का टीकाकरण किया गया था, उसके बावजूद भी इतनी बड़ी संख्या में मरीजों के मिलने से राष्ट्रपति पुतिन की चिंता भी बढ़ गई है। वहीं आपको बता दे, संक्रमण के बढ़ने के बावजूद भी लगातार वहां राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन लगाने या व्यापक स्तर पर बाजारों को बंद करने का विरोध किया जा रहा है।

रूस में कोरोना वायरस से संक्रमित होने वालों की कुल संख्या 2,963,688 पहुंच गई है। वहीं, पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस से 549 लोगों की मौत हुई है। साथ ही देश में इस महामारी से मरने वालों की कुल संख्या 53,096 बताई जा रही है। वहीं आपको बता दे कि कई विशेषज्ञों द्वारा पहले ही शक जताया गया था कि रूस अपने यहां कोरोना के कुल मामलों को छ्पा रहा है और गलत आंकड़ा पेश कर रहा है।

वहीं आपको बता दें कि 11 अगस्त को दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन स्पुतनिक-वी को बनाने का दावा भी रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने ही किया था। इसके बाद दूसरी कोरोना वैक्सीन ‘EpiVacCorona’ को भी पुतिन ने अक्टूबर में शुरुआती ट्रायल के बाद मंजूरी दी थी। आपको बता दे स्पुतनिक-वी वैक्सीन की पहली डोज पुतिन की खुद की बेटी को दी गई थी, साथ ही राष्ट्रपति पुतिन ने स्पुतनिक-वी वैक्सीन को लेकर यह भी दावा किया था कि इससे लोगों के ठीक होने की रफ्तार बढ़ी है। रूस में स्पुतनिक-वी वैक्सीन का वैक्सिनेशन भी शुरु हो चुका है। जबकि दूसरी वैक्सीन को अभी ट्रायल फेज में रखा गया है।

स्पूतनिक वी वैक्सीन को मॉस्‍को के गामलेया रिसर्च इंस्टिट्यूट ने रूसी रक्षा मंत्रालय के साथ मिलकर एडेनोवायरस को बेस बनाकर तैयार किया है। रूस की वैक्सीन सामान्य सर्दी जुखाम पैदा करने वाले adenovirus पर आधारित है। इस वैक्सीन को आर्टिफिशल तरीके से बनाया गया है।

रूस की दूसरी कोरोना वायरस वैक्‍सीन ‘EpiVacCorona’ को साइबेरियन बॉयोटेक कंपनी ने विकसित किया है। यह वैक्सीन पेप्टाइड आधारित है। कोरोना से बचाव के लिए इस वैक्सीन को दो बार देना होगा। इसे साइबेरिया में स्थित वेक्‍टर इंस्‍टीट्यूट ने बनाया है।

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है