मोनोलिथ के राज़ से उठने लगा है पर्दा

सोशल मीडिया पर इन दिनों मोनोलिथ की खूब चर्चा हो रही है। कोई इसे धरती पर एलियंस की एंट्री से जोड़कर देख रहा है तो कोई मोनोलिथ के पीछे का रहस्य तलाशने की कोशिश में लगा है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि मोनोलिथ क्या है। चलिए सबसे पहले आपको मोनोलिथ का मतलब समझाते हैं

दरअसल मोनोलिथ शब्द का अर्थ है पत्थर या किसी धातु से बना बहुत बड़ा खंभा। जो दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में दिखाई दे रहे हैं और अचानक गायब भी हो रहे हैं। अमेरिका, यूटा के रेगिस्तान और उत्तरी रोमानिया में मोनोलिथ दिखाई दिए थे। यूके में भी एक मोनोलिथ देखा गया था जिसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुईं। लेकिन अब ये मोनोलिथ दुनिया के लिए एक पहेली बन गए हैं।

कब-कब दिखे मोनोलिथ?

सबसे पहले मोनोलिथ अमेरिका में देखा गया था। एक हेलिकॉप्टर दल ने इसे 18 नवंबर को देखा था। दूर से देखने पर हेलिकॉप्टर में सवार लोगों को ये एक चमकीली मूर्ति नजर आई थी लेकिन फिर ये मोनोलिथ गायब हो गया। उसके बाद उत्तरी रोमानिया में ऐसा ही मोनोलिथ नजर आया लेकिन फिर ये मोनोलिथ भी रहस्यमयी तरीके से गायब हो गया था। जिसने सबको हैरत में डाल दिया है। इसके बाद दिसंबर के पहले हफ्ते में इस्ले ऑफ वाइट के समुद्र के किनारे मोनोलिथ देखा गया था। इसके अलावा मोनोलिथ कैलिफोर्निया और नीदरलैंड में देखा गया इतना ही नहीं कोलंबिया में तो सोने का मेनोलिथ नजर आया था। आपको बता दें कि भारत में अभी तक किसी भी तरह का मोनोलिथ नहीं दिखा है। हां अगर आप भारत में मोनोलिथ नाम से सोशल मीडिया पर सर्च करेंगे..तो आपको इससे जुड़े कई मीम्स जरूर मिल जाएंगे

मोनोलिथ का एलियंस कनेक्शन

दरअसल साल 1968 में ऑर्थर सी क्लॉर्क की एक किताब प्रकाशित हुई थी जिसमें धातु के ऐसे ही खंभों का जिक्रम मिलता है। बाद में इस किताब पर फिल्म भी बनी। जिसमें ये दिखाया गया था कि एलियंस ने अंतरिक्ष में साथी एलियंस के साथ संपर्क साधने के लिए ऐसे खंभे लगाए थे। दुनियाभर में मोनोलिथ देखे जाने की घटना सामने आने के बाद अब इस किताब की चर्चा जोरों पर है साथ ही मोनोलिथ को एलियंस से जोड़कर भी देखा जा रहा है।

आखिर कहां गायब हो रहे हैं मोनोलिथ?

इन मोनोलिथ को लेकर कला के नमूने के साथ साथ एलियंस से जोड़कर देख रहे थे..लेकिन रोमानिया के एक स्थानीय पत्रकार से मिली जानकारी के मुताबिक जिसने इन मोनोलिथ को  गुपचुप तरीके से लगाया था वैसे ही उसने इन्हें निकाल भी लिया और वहां पर सिर्फ गड्ढा रह गया है। वहीं यूटा के रेगिस्तान से गायब हुए मोनोलिथ के बारे में एक टूर गाइड ने सोशल मीडिया पर दावा किया है कि उसने तीन लोगों की मदद से 12 फुट के खंभे को हटा दिया है। बाकायदा इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर पोस्ट किया है

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है