Gas cylinder की कालाबाजारी में आने लगी गिरावट

महंगाई के इस दौर में घरेलू रसोई Gas cylinder पर Subsidy खत्म होने का असर दिखने लगा है। बीते कुछ महीने में घरेलू Gas cylinder की मांग पर असर पड़ा है। घरेलू Gas cylinder की मांग धीमी हुई है। वहीं, गैर घरेलू Gas cylinder की मांग बढ़ी है। इसके पीछे जानकार मानते हैं कि Subsidy खत्म होने की वजह से घरेलू सिलेंडर की मांग कमजोर पड़ी है।

क्षेत्र से जुड़े जानकारों का कहना है कि घरेलू Gas cylinder की मांग कई शहरों में 20 फीसदी तक कम हुई है। इस मांग को काफी हद तक वाणिज्यिक सिलेंडर ने पूरा किया है। क्योंकि Commercial cylinder ब्लैक में cylinder के मुकाबले सस्ता है। इसलिए, ज्यादा कीमत देकर Gas cylinder खरीदने के बजाय वाणिज्यिक सिलेंडर को तरजीह दे रहे हैं।

PM:पहले चरण के कोरोना टीकाकरण का खर्च केंद्र सरकार करेगी

सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि Subsidy खत्म होने से घरेलू Gas cylinder की मांग पर असर पड़ा है। LPG उपभोक्ता को Subsidy पर 1 साल में एक दर्जन cylinder मिलते थे, जबकि उसका खर्च कम था। ऐसे में Gas cylinder की कालाबाजारी को बल मिलता था। क्योंकि सब्सिडी और गैर सब्सिडी cylinder की कीमत में फर्क था। बता दें कि सब्सिडी खत्म होने के बाद सिलेंडर की कीमत में फर्क खत्म हो गया। इससे गैर Subsidy सिलेंडर की मांग बढ़ गई। पेट्रोलियम योजना और विश्लेषण प्रकोष्ठ के मुताबिक अगस्त माह में Commercial cylinder की मांग पिछले साल के मुकाबले 43 फीसदी कम थी, जो नवंबर में वर्ष 2019 के मुकाबले सिर्फ 15 फीसदी कम रह गई।

घरेलू Gas cylinder की मांग पिछले साल के मुकाबले नवंबर में बढ़ी है। क्योंकि इस अवधि में 60 लाख से अधिक नए गैस कनेक्शन और 44 लाख उपभोक्ताओं को दूसरा cylinder आवंटित किया गया। आंकड़ों के मुताबिक अप्रैल से अगस्त तक घरेलू Gas cylinder की मांग में 14.6%का इजाफा हुआ था। जबकि अप्रैल से नवंबर तक यह वृद्धि घटकर 11.4% रह गई। जबकि सर्दियों के दौरान गैस की मांग आम दिनों के मुकाबले अधिक रहती है।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं