26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के दिन हुई हिंसा का असर अब किसान आंदोलन पर भी पड़ने लगा है। गणतंत्र दिवस पर जिस ट्रैक्टर परेड को लेकर किसान लंबे समय से तैयार कर रहे थे और गणतंत्र दिवस के दिन जिस तरह की तेजी किसान दिखा रहे थे उसके बाद अब गणतंत्र दिवस के दिन हुई घटना के बाद कई किसान मायूस नजर आ रहे हैं। हालात ये हो चुके हैं कि कई किसान अपने घरों की ओर रवाना होने लगे हैं। मिली जानकारी के मुताबिक अब तक करीब 1 लाख किसान अपने घरों को लौट चुके हैं

दिल्ली हिंसा: लाल किले की ड्रोन से निगरानी, अब तक कुल 22 केस दर्ज

दरअसल दिल्ली हिंसा के बाद पुलिस एक्शन मोड में नजर आ गई है। दिल्ली पुलिस ने मामले में 22 एफआईआर दर्ज की है। इसके साथ ही उपद्रवियों पर भी शिकंजा कर दिया गया है। करीब 200 उपद्रवियों को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। जो एफआईआर दर्ज की गई है उसमें कई किसान संगठनों और किसान नेताओं के नाम भी हैं अधिकांश नेता वे हैं जो सरकार के साथ बातचीत में भी किसानों का पक्ष रख रहे थे।

आपको बता दें कि किसान आंदोलन में बड़ी भूमिका निभाने वाले राकेश टिकैत और योगेन्द्र यादव जैसे नेता भी दिल्ली हिंसा में फंसते नजर आ रहे हैं। इन नेताओं के नाम भी एफआईआर में शामिल हैं। बता दें कि लाल किले पर हुए उपद्रव के बाद मंगलवार रात से किसानों का ट्रैक्टर लेकर घरों को लौटने का सिलसिला शुरू हो चुका था। मिली जानकारी के मुताबिक 1 लाख से ज्यादा किसान अब घरों को लौट चुके हैं।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं