सुप्रीम कोर्ट ने कृषि कानूनों पर लगाई अगले आदेश तक रोक

किसान लंबे समय से तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे थे। सुप्रीम कोर्ट ने अब तीनों कृषि कानूनों पर अलगले आदेश तक रोक लगा दी है। किसानों की समस्याओं का समाधान हो सके इसके लिए चार सदस्यों वाली कमेटी भी बनाई गई है। लेकिन किसान संगठन कमेटी को लेकर सहमत नहीं दिख रहे हैं। किसान नेता राकेश टिकैत ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर निराशा जताई है। राकेश टिकैत का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट ने मामले को लेकर जो कमेटी बनाई है उसके सभी सदस्य कानून के समर्थक हैं। टिकैत ने कहा कि अशोक गुलाटी की अध्यक्षता में जो कमेटी गठित हुई थी उसने की कृषि कानूनों को बनाए जाने की सिफारिश की थी

लोगों में नहीं दिख रहा Bird Flu का डर, खूब खाए…

दरअसल किसान कृषि कानूनों को रद्द करने और एमएसपी पर गारंटी कानून बनाने की मांग कर रहे हैं। अब सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद किसानों आदेश पर मंथन करने के बाद आगे की रणनीति की घोषणा करेंगे बता दें कि सरकार और किसानों के बीच विवाद के समाधान के लिए सुप्रीम कोर्ट ने जिन चार लोगों की कमेटी का गठन किया है उनमें भूपिंदर सिंह मान, डॉ. प्रमोद जोशी, अशोक गुलाटी और अनिल धनवट शामिल हैं

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं