इस Gaon की सुध लेने वाला कोई नहीं, अंधेरे में रहने को मजबूर लोग 

0
255

देश बदल रहा है, डिजिटल हो रहा है लेकिन आज भी एक ऐसा गांव (Gaon) है जहां बिजली की झलक किसी ने नहीं देखी है। Haryana-Delhi की सीमा पर स्थित Jewar Assembly Seat का दलेलपुर Gaon सालों से उपेक्षित(अमान्य) है। प्रदेश की सबसे छोटी ग्राम पंचायत के मतदाता आज भी नाव से यमुना को पार करके गौतमबुद्ध नगर, दिल्ली और हरियाणा आते-जाते हैं।

आपको ये सब सुनकर लग रहा होगा कि ये कोई मज़ाक है लेकिन ये हक़ीक़त है ग्रामीणों कहना है कि वे गांव में बिजली, स्कूल, अस्पताल और यमुना पर पुल बनाने का आश्वासन देने वाले प्रत्याशी को वोट करेंगे। ग्राम प्रधान कैलाश सिंह चपराना ने कहा कि उनके Gaon में आज तक बिजली नहीं आई है। इस बार भी Gaon में कोई प्रत्याशी वोट मांगने नहीं आया। बस उनके समर्थक आते हैं। Gaon का विकास कराने वाले को ही वह वोट देंगे। एक ग्रामीण का कहना था कि उनका गांव Haryana-Delhi की सीमा पर है। हरियाणा प्रशासन ने भी किसानों को बिजली के कनेक्शन नहीं दिए हैं। बिजली नहीं होने से खेती महंगी हो गई है। Gaon में प्राइमरी स्कूल और अस्पताल तक नहीं हैं। Gaon के लोगों को इलाज के लिए Haryana और Delhi जाना पड़ता है।

लोगों ने शिकायत कि है आज तक यमुना नदी को पार करने के लिए पंटून पुल नहीं बनवाया गया है। इससे ग्रामीण परेशान हैं। Gaon के लोगों को गौतमबुद्ध नगर के सरकारी कार्यालयों, अस्पतालों और स्कूलों में आने जाने में पूरा दिन लग जाता है। कई बार जान जोखिम में डालकर यमुना पार करते हैं। कई ग्रामीणों की यमुना पार करते समय मौत हो चुकी है।

एक किसान ने कहा कि किसी भी जनप्रतिनिधि ने Gaon में कोई विकास कार्य नहीं कराया है। Gaon में आवागमन के लिए भी कोई सड़क नहीं बनी। नीरज त्यागी ने कहा कि Gaon के युवक हरियाणा, Delhi के कॉलेजों में पढ़ने जाते हैं। वहां आने जाने में ज्यादा समय लगता है। इस कारण उच्च शिक्षा से Gaon के युवक वंचित रह जाते हैं। Gaon के लोग नाव में बैठकर वोट डालने जाते हैं। नाव की व्यवस्था भी Gaon वालों ने अपने चंदे से की है। उनके Gaon में ही मतदान केंद्र होना चाहिए।

यह भी पढ़ें – Crime Thriller में अपना जलवा दिखाएंगी Kareena Kapoor

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है