Home Astrology Sawan का पहला सोमवार है ख़ास, इस तरह महादेव को करें प्रसन्न

Sawan का पहला सोमवार है ख़ास, इस तरह महादेव को करें प्रसन्न

0

भारत देश में हर त्यौहार और व्रत का ख़ास महत्व होता है। देवाधिदेव महादेव को प्रिय Sawan माह बहुत पवित्र माह माना गया है। इस माह सच्चे मन से भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा-अर्चना करने से सभी कष्ट दूर हो जाते हैं। यही वजह है कि सभी भक्त सोमवार के व्रत को बेहत साफ़ दिल से रखते हैं।

Sawan माह में प्रत्येक सोमवार का विशेष महत्व है। Sawan के सोमवार को भगवान शिव और माता पार्वती का सच्चे मन से ध्यान करने मात्र से समस्त रोग दोष दूर हो जाते हैं। Sawan सोमवार को व्रत रखने से अकाल मृत्यु का भय दूर हो जाता है और दीर्घायु की प्राप्ति होती है।

Sawan माह में सृष्टि के संचालन का उत्तरदायित्व भगवान शिव ग्रहण करते हैं। Sawan मास के सोमवार को भगवान शिव और माता पार्वती की उपासना का विशेष महत्व बताया गया है। Sawan के सोमवार को सुबह स्नान आदि से निवृत्त होने के बाद स्वच्छ वस्त्र धारण करें। ओम नम: शिवाय मंत्र का जाप करते हुए भगवान शिव का जलाभिषेक करें। भगवान शिव को पुष्प एवं बेल पत्र अर्पित करें। शिवलिंग पर गंगाजल में काला तिल मिलाकर अर्पित करें।

भगवान शिव को प्रसाद के रूप में घी और चीनी का भोग लगाएं। भगवान शिव और माता पार्वती की विधि विधान से पूजा करने से मनोवांछित फल प्राप्त होता है। भगवान शिव को पंचामृत दूध, दही, घी, अमृत, शहद अर्पित करें। भगवान शिव को फल एवं मिठाई का भोग लगाएं। जनेऊ और वस्‍त्र भी अर्पित करें। Sawan मास में शिवलिंग का रुद्राभिषेक करने का भी विशेष महत्व है। शिव पुराण के अनुसार, Sawan माह के प्रत्येक सोमवार को व्रत करने से भगवान शिव और माता पार्वती का आशीष प्राप्त होता है। Sawan सोमवार को महामृत्युंजय मंत्र, शिव पुराण का पाठ, रुद्राभिषेक करने से रोग, शोक से मुक्ति मिलती है।

यह भी पढ़ें – Gyanvapi Masjid में मिले ‘शिवलिंग’ की होगी कार्बन डेटिंग!

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है

Exit mobile version