जैसे-जैसे समय बिता और कुछ समय बाद जियो ने मार्केट से अपने मासिक प्लान निकाल दिए। लेकिन यह प्लान काफी कम रेट में यूजर्स को दिए जा रहे थे।

मुकेश अंबानी ने 2016 में जियो के रुप टेलीकॉम के क्षेत्र में कदम रखा। शुरुआत में तो जियो की तरफ से सारे यूजर्स को यह सुविधा बिना किसी मासिक शुल्क के फ्री में दी गई थी। लेकिन जैसे-जैसे समय बिता और कुछ समय बाद जियो ने मार्केट से अपने मासिक प्लान निकाल दिए। लेकिन यह प्लान काफी कम रेट में यूजर्स को दिए जा रहे थे।

लेकिन अब 2019 में जियो ने यूजर्स को तगड़ा झटका देते हुए अपने नए टैरिफ प्लान निकाले। जिसके तहत अब अगर जियो यूजर जियो के अलावा किसी और नेटवर्क में कॉल करता है तो उसके लिए यूजर्स को टैरिफ प्लान लेने होंगे जिसमें उन्हें कुछ निर्धारित मिनट दिए जाएंगे।

बीते 6 दिसंबर को जियो ने अपने यूजर्स को एक और झटका देते हुए अपने टैरिफ प्लान में बदलाव किया है। लेकिन इन सब बदलावों के बीच जियो ने 49 रुपये में जियोफोन यूजर्स को मिलने वाले अपने सबसे छोटे प्लान को ही गुडबॉय कर दिया है।   

आपको बता दें कि जियोफोन की कीमत मात्र 1500 होने की वजह से देश के कोने-कोने से लोगों ने इस फोन को खरीदा था। इस फोन को खरीदने के पीछे लोगों की सोच थी कि मात्र 1500 रुपए की कीमत में यूजर्स को एक ऐसा फोन मिल रहा था जिसमें कम रेट में कॉलिंग और इंटरनेट की सुविधा मिल रही थी। लेकिन अब इन बढ़ती हुई कीमतों से लोगों में भारी निराशा देखने को मिल रही है।

अब जियोफोन यूजर्स के पास सिर्फ कुछ ही रिचार्ज प्लान के ऑफर बचे हुए है। जिसमें 99 रुपये, 153 रुपये, 297 रुपये और 594 रुपये,  के प्लान ही जियो की तरफ से अपने यूजर्स को दिए जा रहे हैं। बावजूद इन सब रिचार्ज के ग्राहकों को नॉन-जियो मिनट्स के लिए IUC टॉप-अप रिचार्ज तो कराना ही होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here