पहले मिसाइल मैन थे मैसुर के शासक टीपू सुल्तान

विश्व की पहली मिसाइल बनाने का श्रेय मुगलकालिन समय में मैसुर के राजा टीपू सुल्तान ने बनाई थी। अग्रेजों के खिलाफ युद्ध में इन मिसाइलों का इस्तेमाल किया गया था । टीपू सुल्तान के सिपहसालार ने तोप में इस्तेमाल होने वाले बारुद को बांस की नलकी में लगा कर उसे तलवार के साथ बांध दिया । यह दिपावली पर छूड़ाए जाने वाले मौजूदा रॉकेट बम की तरह था जो आसमान में जा कर जब तेजी से नीचे आता था तो दुश्मनों के उपर गिरता था जिससे वे या तो मारे जाते थे या गंभीर तौर पर घायल हो जाते थे ।

अंग्रेजो से लड़ते हुए टीपू सुल्तान की मौत हो गई थी जिसके बाद उनकी सेना ने हथियार डाल दिए । अंग्रजों को टीपु सुल्तान के असलहा खाने से विश्व की पहली मिसाइल के तौर पर यह हथियार हाथ लगे थे । अंग्रेज इन मिसाइलों को ब्रिटेन ले गए । और 1944 में पहली बार आधुनिक मिसाइल का इस्तेमाल हुआ । मौजूदा समय में इंटरकॉटिनेंटल मिसाइलों से लेकर स्पेस मिसालें बनाई गई हैं । आज विश्व के कई देश मंगल से लेकर गहरे अन्तरिक्ष तक रॉकेट भेज रहे हैं तो इसका श्रेय मिसाइलों के जनक टीपू सुल्तान को जाता है ।

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है