Sameer Wankhede पर लटकी तलवार, भ्रष्टाचार के आरोप में शुरू हुई जांच

0
313

Aryan Khan की मुश्किलें बढ़ाने वाले Sameer Wankhede अब ख़ुद मुसीबत में फंस गए हैं। क्रूज पार्टी ड्रग केस में गवाह के वसूली वाले आरोपों के बाद एनसीबी के जोनल डायरेक्टर Sameer Wankhede की मुश्किलें बढ़ गई हैं। Narcotics Control Bureau (NCB) ने रिश्वत के आरोप में Sameer Wankhede के खिलाफ विजिलेंस जांच शुरू कर दी है।

NCB के डीजी ज्ञानेश्वर सिंह के मुताबिक, NCB ने क्षेत्रीय निदेशक Sameer Wankhede के खिलाफ सतर्कता जांच का आदेश दिया है। बता दें कि Aryan Khan केस में गवाह प्रभाकर साईल ने NCB के जोनल डायरेक्टर Sameer Wankhede पर 8 करोड़ रुपये की वसूली के आरोप लगाए हैं। इस जांच के बाद Sameer Wankhede अपने पद पर बने रहेंगे या नहीं, इस पर अब संशय के बादल मंडरा रहे हैं।

Sameer Wankhede पर लगे रिश्वत के आरोप पर डीडीजी NCB ज्ञानेश्वर सिंह ने कहा, ‘डीडीजी एसडब्ल्यूआर से एक रिपोर्ट हमारे डीजी को प्राप्त हुई थी, उन्होंने विजिलेंस सेक्शन को एक जांच के लिए चिह्नित किया है… मुख्य सतर्कता अधिकारी उचित रूप से जांच से निपटेंगे …जांच अभी शुरू हुई है, किसी भी अधिकारी पर टिप्पणी करने का अधिकार नहीं है।’

इस बीच कोर्ट में इस केस से संबंधित दो हलफनामे दायर किए गए हैं। एक हलफनामा जहां NCB की ओर से है, वहीं दूसरा Sameer Wankhede  की ओर से दायर किया गया है। NCB द्वारा एनडीपीएस कोर्ट में दायर एक जवाबी हलफनामे में एजेंसी ने कहा है कि गवाह मुकर गया है। विशेष एनडीपीएस अदालत के समक्ष पेश हुए NCB के अफसर Sameer Wankhede ने न्यायाधीश से कहा कि उन्हें निशाना बनाया जा रहा है और वह जांच के लिए तैयार हैं। Sameer Wankhede ने अपने हलफनामे में अदालत से उन्हें धमकी देने और जांच में बाधा डालने के प्रयासों का संज्ञान लेने का अनुरोध किया गया है, वहीं दूसरी ओर NCB के हलफनामे में गवाह के मुकर जाने और जांच में छेड़छाड़ के लिए कुछ लोगों द्वारा प्रभाव का इस्तेमाल किए जाने की बात कही गई है।

जानें, पूरा मामला

मुंबई क्रूज ड्रग्स मामले ने रविवार को प्रभाकर सेल नाम के एक स्वतंत्र गवाह के आरोप से एक मामला एक नया मोड़ ले लिया। ‘स्वतंत्र गवाह’ प्रभाकर साईल ने दावा किया आर्यन को तीन अक्टूबर को NCB कार्यालय लाने के बाद उन्होंने गोसावी को फोन पर डिसूजा नामक एक व्यक्ति को 25 करोड़ रुपये की मांग और मामला 18 करोड़ पर तय करने के बारे में बात करते हुए सुना था क्योंकि उन्हें ‘आठ करोड़ रुपये Sameer Wankhede (NCB के जोनल निदेशक)को देने थे।’ साईल ने मीडिया से कहा कि NCB अधिकारियों ने उनसे नौ से 10 कोरे कागजों पर हस्ताक्षर करने के लिए भी कहा। हालांकि, NCB अधिकारी ने आरोपों से इनकार करते हुए इसे ” पूरी तरह से झूठ और दुर्भावनापूर्ण” बताया।

यह भी पढ़ें – Rajinikanth को Dadasaheb Phalke Award से नवाज़ा गया

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है