हम आपको एक ऐसी जगह के बारे में बता रहे हैं। जहां जाने के लिए आपको पासपोर्ट, वीजा और ना ज्यादा पैसे की जरूरत होगी।

हर इंसान अपनी लाइफ में कभी ना कभी किसी देश या किसी अच्छी जगह पर जाना चाहता है। सभी लोग ऑस्ट्रेलिया, लंदन और स्विट्जरलैंड जैसे देशों में घूमना चाहते हैं। लेकिन इन देशों में जाने का खर्च बहुत ज्यादा होता है। जिसकी वजह से लोगों का यह सपना बस सपना ही रह जाता है। लोगों में स्विट्जरलैंड जाने का सबसे ज्यादा क्रेज देखा जाता है। उसकी वजह वहां की खूबसूरती है।

आर्टिफिशियल चीजें कितनी भी खूबसूरत बना लो लेकिन वह प्राकृतिक चीजों का मुकाबला कभी नहीं कर पाती है। स्विट्जरलैंड में भी प्राकृतिक खूबसूरती कुछ ज्यादा ही है जिसकी वजह से लोग वहां हमेशा ही घूमने जाते हैं। प्रकृति की खूबसूरती ना सिर्फ आंखों को सुकून देती है बल्कि दिल दिमाग और मन को शांत करती हैं। स्विट्ज़रलैंड जाने का खर्चा इतना ज्यादा हो जाता है कि बहुत सारे लोग वहां कभी जा ही नहीं पाते लेकिन हम आपको एक ऐसी जगह के बारे में बता रहे हैं। जहां जाने के लिए आपको पासपोर्ट, वीजा और ना ज्यादा पैसे की जरूरत होगी। जहां पर जाकर आपको स्विट्जरलैंड जैसी फीलिंग आएगी।

Image result for खजियार डलहौजी
जो किसी भी तरह से स्विजरलैंड से कम दिखाई नहीं पड़ता है जिसकी वजह से इसे मिनी स्विट्ज़रलैंड भी कहा जाता है। यह शहर जंगलों, झीलो और प्राकृतिक खूबसूरती का एक अनूठा संयोजन प्रदान करता है। भारत के मिनी-स्विट्जरलैंड’ के रूप में जाना जाने वाला, खजियार डलहौजी के पास एक छोटा शहर है। खजियार अपने नौ-छेद वाले गोल्फ कोर्स के लिए जाना जाता है, जो हरियाली और लुभावनी परिदृश्य के बीच में स्थित है। डलहौजी से सिर्फ 1 किमी और खजियार से लगभग 32 किमी दूर, सुभाष बावली ऊंचे देवदार के पेड़ों के बीच एक खूबसूरत जगह है।