आज हम आपको एक ऐसे ही क्रिकेटर के बारे में बताने जा रहे हैं। जो अपराध की दुनिया को छोड़कर एक शानदार क्रिकेटर बना।

क्रिकेट को भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में पसंद किया जाता है। इस खेल ने लोगों को इतना प्रभावित किया है कि अब हर देश इस खेल में भी अपनी भागेदारी दर्ज करवाना चाहता था। आज हर देश क्रिकेट को सीख रहा है और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेलना चाहता है। अमेरिका ने भी अपनी क्रिकेट टीम बना ली है। क्रिकेट की तरह ही क्रिकेट के खिलाड़ी भी पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है। दुनिया के हर क्रिकेटर्स की फैन फॉलोइंग बहुत ज्यादा होती है।

भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में एक से बढ़कर एक महान खिलाड़ी हुए हैं। कई खिलाड़ी तो ऐसे हुए हैं जिन्होंने अपना पुराना प्रोफेशन छोड़कर क्रिकेट को चुना। लेकिन कुछ क्रिकेटर ऐसे भी हैं जो पहले अपराधी हुआ करते थे लेकिन उन्होंने भी अपराध का रास्ता छोड़कर क्रिकेट को चुना। आज हम आपको एक ऐसे ही क्रिकेटर के बारे में बताने जा रहे हैं। जो अपराध की दुनिया को छोड़कर एक शानदार क्रिकेटर बना। जिसके बाद क्रिकेट की दुनिया में उनके चाहनेवालों की फेहरिस्त लंबी होती जा रही है।

यह खिलाड़ी कोई और नहीं बल्कि वेस्टइंडीज के दिग्गज बल्लेबाज रुनाको मोर्टन है। रुनाको ने एक बार अपराध का रास्ता भी पकड़ लिया था। दरअसल रुनाको ने अपने ही कजिन भाई पर चाकू से हमला किया था। जिसकी वजह से क्रिकेट बोर्ड ने रुनाको को 1 साल के लिए क्रिकेट से बैन भी कर दिया था। जिसके बाद उन्होंने क्रिकेट में वापसी की और वेस्टइंडीज की तरफ से 56 एकदिवसीय मैच खेलें।