बहुत से लोगों को यह जानकर यकीन नहीं होगा की महात्मा गांधी भी फिल्म देखा करते थे। अपने जीवन काल में उन्होंने सिर्फ दो ही फिल्में देखी थी

भारत में कोई ऐसा इंसान नहीं होगा जो महात्मा गांधी के नाम से ना परिचित हो। क्योंकि देश में पैसे का इस्तेमाल बच्चा, बूढ़ा और जवान हर इंसान करता है। और भारत के हर नोट पर महात्मा गांधी की फोटो लगी होती है। हर इंसान के दिमाग में महात्मा गांधी की छवि बिल्कुल साफ सुथरे इंसान की है। सभी जानते हैं कि बापू एक सादा जीवन जीने में विश्वास रखते थे उनको बाहरी दुनिया की चमक-धमक बिल्कुल भी पसंद नहीं थी।

महात्मा गांधी को मारी गई थी गोली, FIR की कॉपी यहाँ आज भी है मौजूद…

Image result for मिशन टू मास्को movieबहुत से लोगों को यह जानकर यकीन नहीं होगा की महात्मा गांधी भी फिल्म देखा करते थे, अपने जीवन काल में उन्होंने सिर्फ दो ही फिल्में देखी थी। जिसमें एक अंग्रेजी और दूसरी हिंदी फिल्म थी। पहली मिशन टू मास्को दूसरी राम राज्य देखी थी। इस बात से पता चलता है कि महात्मा गांधी को फिल्मों से और ना ही फिल्मी दुनिया से कोई लगाव था।

शरारती तत्वों ने महात्मा गांधी की प्रतिमा को किया खंडित

ram rajya movieजानकारी के लिए बता दें कि महात्मा गांधी अपने जीवन काल में किसी भी फिल्मी स्टार से नहीं मिले। फिर चाहे वह कितना भी बड़ा कलाकार या  सुपरस्टार हो। बताया जाता है कि उन्हें फिल्मी दुनिया का कल्चर भी अच्छा नहीं लगता था। लेकिन एक अभिनेता ऐसा भी है जिसने महात्मा गांधी से कई बार मुलाकात की है। भीष्मा साहनी की किताब बलराज माय ब्रदर में यह दावा किया गया है कि महात्मा गांधी जी सिर्फ एक एक्टर के बहुत ज्यादा करीब थे और वे थे बलराज साहनी।