विश्व प्रसिद्ध हर की पैड़ी पर ब्रह्म कुंड के पास पैर का निशान देख लोग हैरान है. जिसे लोग दिव्य चरण के रूप में देख रहे है. वहीं तीर्थ पुरोहितों की माने तो वह इसे कुम्भ मेले से पहले सुखद संदेश बता रहे है. बता दें कि ये निशान हर की पैड़ी पर बहने वाली गंगा धारा पर है जहां श्रद्धालु स्नान करते हैं और अपने पितरों का अस्थि विसर्जन करते हैं, ये निशान पानी के अंदर है.

हर की पैड़ी पर बहने वाली गंगा धारा पौराणिक है और यहां श्रद्धालु गँगा स्नान तथा अपने पितरों के प्रति अस्थि विसर्जन तर्पण और अन्य धार्मिक कर्मकांड करने लिए आते है। सुबह किसी व्यक्ति को पवित्र ब्रह्मकुंड की सीढ़ियों पर एक चरण का निशान दिखा जो पहले दिखाई नहीं दिए, इन पैरो के निशान का साइज लगभग 10 नंबर के पैर के जैसा प्रतीत हो रहा है, जिसको देखकर लोग अचरज कर रहे है.

क्या हिम मानव होते हैं?

मामलें में पुरोहित उज्ज्वल पंडित ने बताया कि अभी इसकी सूचना पुरोहितों को दी गई है.. और हमने अपने कर्मचारियों के माध्यम से उस पर स्थान को बेसिन पाउडर तथा पत्थर आदि से घिसवाया भी है लेकिन उस स्थान पर कोई भी फ़र्क नहीं पड़ा है. अभी कुछ दिन पहले भी बहुत पुरानी लिपि के पत्थर हर की पौड़ी स्थल पर पाए गए थे. लोगों का मानना है कि यह दिव्य स्थल आज भी देवी-देवताओं के लिए आकर्षण एवं तप स्थल बना हुआ है. जहां किसी भी रूप में आज भी दिव्य आत्माएं आकर गंगा स्नान एवं तप इत्यादि करती हैं. स्नान पर्वों से पूर्व यह दिव्य चरण के दर्शन शुभ भविष्य की ओर इशारा कर रहे हैं

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं