ओडिशा के पुरी में भगवान श्री जगन्नाथ का भव्य मंदिर है और इस मंदिर से जुड़ी कई बातें इंसान को अचरज में डाल देती हैं। ये मंदिर इतना भव्य है कि दूर दूर से वास्तु विशेषज्ञ इस मंदिर में रिसर्च करने के लिए आते हैं। साथ ही ये मंदिर अपने आप में कई रहस्य भी समेटे हुए है

उल्टी दिशा में लहराता ध्वज

अब अगर आप किसी भी झंडे को देखेंगे तो वो आपको हवा की दिशा में लहराता नजर आएगा। आपको जानकर हैरानी होगी कि श्री जगन्नाथ मंदिर का ध्वज हवा की दिशा में नहीं लहराता बल्कि ये हवा की उल्टी दिशा में लहराता है। ऐसा किस वजह से होता है कोई नहीं जानता लेकिन ये बात हर किसी को हैरान जरूर करती है। इतना ही नहीं हर रोज शाम को मंदिर के ईपर ध्वज को उल्टा चढ़कर बदला जाता है। आपको बता दें कि इस ध्वज पर शिव का चंद्र बना हुआ है

गुंबद की नहीं बनती छाया

4 लाख वर्गफुट में फैले भगवान श्री जगन्नाथ मंदिर की ऊंचाई करीब 214 फीट है। मंदिर के पास खड़े रहकर इसके गुबंद को देख पाना मुश्किल है। आपको जानकर हैरानी होगी कि इस गुंबद की छाया दिन के किसी भी वक्त नहीं बनती और हर वक्त अदृथ्य रहती है. जो पूर्वजों के आर्किटेक्चर का नायाब नमूना पेश करता है

गुंबद के ऊपर नहीं उड़ते पक्षी

आपको मंदिर के शिखर पर पक्षी बैठे नजर आते होंगे। लेकिन इस मंदिर के ऊपर गुंबद के आसपास अभी तक कोई भी पक्षी उड़ता हुआ नहीं दिखाई दिया है। इसके अलावा इस मंदिर के ऊपर से हवाई जहाज या हेलिकॉप्टर उड़ाने की भी मनाही है

चमत्कारिक सुदर्शन चक्र

पुरी में हर मंदिर के ऊपर सुदर्शन चक्र लगा नजर आता है। जगन्नाथ मंदिर के ऊपर भी भव्य सुदर्शन चक्र लगा हुआ है जिसे नीलचक्र कहते हैं आप पुरी में किसी भी जगह से इस सुदर्शन चक्र को देखेंगे तो ये आपको हमेशा अपने सामने ही लगा नजर आएगा

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है