Steel की क़ीमत में हुई बढ़ोतरी, अब घर बनाना पड़ेगा महंगा

0
213

हर चीज़ महंगी हो रही है। ऐसे में किसी चीज़ के दाम नहीं बढ़ते तो ऐसा लगता है कि न जाने कब इसके दाम में भी इज़ाफ़ा हो जाएगा। बीते कई महीनों से कोयला महंगा होने के कारण Steel निर्माता कंपनियों ने Steel की क़ीमतों में 2000 रुपये प्रति टन तक की बढ़ोतरी कर दी है। इस बढ़ोतरी के बाद घर बनाना अब और महंगा हो सकता है।

इंडस्ट्री से जुड़े सूत्रों का कहना है कि अप्रैल में क़ीमतों में और बढ़ोतरी हो सकती है। एचआरसी का इस्तेमाल रेल ट्रैक, भारी-भरकम मशीनरी और ज़्यादा तापमान में इस्तेमाल होने वाली वस्तुओं में होता है। सीआरसी के ज़रिए कम तापमान में काम करने वाली मशीनरी और अन्य वस्तुएं बनाई जाती हैं। मिली जानकारी के मुताबिक, जेएसडब्ल्यू Steel ने 23 मार्च से रेबार Steel की कीमत 1250 रुपये प्रति टन बढ़ा दी है। रेबार से घरों के निर्माण में इस्तेमाल होने वाली सरिया बनाई जाती है।

सरकारी कंपनी सेल ने हॉट रोल्ड कॉइल (एचआरसी) और कोल्ड रोल्ड कॉइल (सीआरसी) की क़ीमतों में प्रति टन 1500 रुपये की बढ़ोतरी की है। जिंदल Steel एंड पावर ने भी स्टील की कीमत 1500 रुपये प्रति टन बढ़ा दी है। इस बढ़ोतरी के बाद एचआरसी की कीमत 72,500 से 73,500 रुपये प्रति टन, सीआरसी 78,500 से 79,000 रुपये प्रति टन और रेबार 71,000 से 71,500 रुपये प्रति टन हो गया है। कच्चा माल और उपकरणों के महंगा होने के कारण आने वाले समय में इलेक्ट्रिक व्हीकल (ईवी) की कीमतों में बढ़ोतरी हो सकती है। इंडस्ट्री से जुड़े लोगों का कहना है कि दोपहिया से लेकर चारपहिया ईवी की कीमतों में छह से आठ प्रतिशत तक की बढ़ोतरी हो सकती है।

यह भी पढ़ें – इस एक्ट्रेस ने पी Burj Khalifa में 24K Gold Tea, दाम सुनकर उड़ जाएंगे होश

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है