Mother Teresa के ममता करुणा ने अपने आंचल में गरीबों अनाथों को भगवान के रुप में पाला आज के दिन ऐसी ही, मॉ का जन्म 26 अगस्त 1910 को स्कॉप्जे में हुआ था, जिसका नाम अब मेसीडोनिया है। Mother Teresa का वास्तविक नाम अगनेस गोंझा बोयाजिजू था। Mother Teresa के जीवन का उद्देश्य ही दलितों एवं पीडितों की सेवा करने का बन गया था। Mother Teresa हमेंशा कहा करती थी, कि प्यार की भूख रोटी की भूख से कहीं बड़ी है। Mother Teresa भारत में शोषितों, वंचितो के लिए प्यार की एक नई किरण बनकर आई थी। मानव सेवा करना इनके व्यक्तित्व का हिस्सा था।

प्यार की भूख रोटी की भूख से ज़्यादा बड़ी होती है, कुछ ऐसे ही विचार थे Mother Teresa के

साल 1949 में Mother Teresa ने भारत की नागरिकता लेकर भारतवासी हो गई, और भारतीय परिधान इनकी पहचान बन गई। ये हमेशा नीले रंग की पाड़ की साड़ी में ही रहती थी, और गले में हमेशा ही एक क्रॉस चिन्ह लटका रहता था।Mother Teresa की सेवा भाव और दीन दुखियों पर ममता के लिए साल 1931 में पोपजान तेइसवें का शांति पुरस्कार और धर्म की प्रगति के टेम्पेलटन फाउण्डेशन पुरस्कार प्रदान किय गया। भारत सरकार द्वारा साल 1962 में उन्हें ‘पद्म श्री’ की उपाधि मिली, 1977 में ब्रिटेन द्वारा ‘आईर ओफ द ब्रिटिश इम्पायर’ की उपाधि प्रदान की गयी। बनारस हिंदू विश्वविद्यालय ने उन्हें डी-लिट की उपाधि से विभूषित किया। 19 दिसम्बर 1979 को Mother Teresa को मानव-कल्याण कार्यों के हेतु नोबल पुरस्कार प्रदान किया गया। वह तीसरी भारतीय नागरिक है जो संसार में इस पुरस्कार से सम्मानित की गयी थीं।

आइये जानते हैं Mother Teresa के विचार

Mother Teresa एक ऐसी व्यक्तित्व थी जिनके विचार के साथ-साथ जीवन मे किये गये कार्य प्रेरणादायी बने। वह हमेशा कहता थी कि कोई व्यक्ति ऐसा है जिसका कोई ख्याल रखने वाला न हो या जिसे कोई चाहता न हो या जिसे हर कोई भूल चुका हो तो उसकी तुलना ऐसे व्यक्ति से की जा सकती है जिसके पास कुछ खाने को न हो या गरीबी से ग्रस्त हो। हमारे मन में शांति नहीं है तो इसका मतलब यह है कि हम यह भूल चुके हैं कि हम सब एक-दूसरे के हैं। आप में सौ लोगों को खिलाने का सामर्थ्य नहीं है तो किसी एक को खिलाएं। मुस्कुराहट से ही शांति की शुरुआत होती है। आप जहां भी जाएं वहां प्यार फैलाएं। जो आपके पास आए वह खुश होकर ही लौटे। रोगी की भूख को मिटाने से कहीं ज्यादा जरूरी प्यार की भूख को मिटाना है।

यह भी पढ़ें – Vaccine लगवाने के बाद भी एक साथ हुआ Corona, Monkeypox और HIV

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है