स्मृति का प्रियंका की तरफ इशारा कहा,हर कोई मदद के लिए वहां पहुंचे, राजनीति के लिए नहीं

0
353
स्मृति का प्रियंका की तरफ इशारा कहा,हर कोई मदद के लिए वहां पहुंचे, राजनीति के लिए नहीं

वाराणसी: उत्तर प्रदेश के हाथरस की घटना लगतार योगी सरकार के लिए सिरदर्द बना हुआ है। आए दिन विपक्ष सरकार को घेर रही है। वही पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र पहुंची केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री और कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने उत्तर प्रदेश में हाथरस की घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘चुप्पी’ के कांग्रेस के आरोपों का करारा जवाब देते हुए कहा कि केंद्र सरकार शुरू से ही महिलाओं की सुरक्षा के लिए कड़े कानून बनाने समेत अन्य ऐहतियाती उपाय गंभीरता पूर्वक कर रही है।

ईरानी ने हाल में संसद में पास कृषि से संबंधित तीन विधेयकों की उपलब्धियां गिनाने के लिए आयुक्त सभागार में आयोजित ‘किसान संवाद प्रेस कांफ्रेंस ’ के दौरान संवाददाताओं के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि मोदी महिलाओं की सुरक्षा को लेकर शुरु से ही बेहद गंभीर रहे हैं। प्रधानमंत्री बनने के बाद उन्होंने पॉस्को कानून में संशोधन कर सामूहिक बलात्कार के दोषियों को फांसी की सजा का प्रावधान से लेकर राज्यों को ‘निर्भया फंड’ की राशि सुनिश्चित करने तक, हर उपाय किये गये।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हाथरस मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उनकी बातचीत हुई है तथा उन्होंने दोषियों एवं साजिशकर्ताओं को सजा दिलाने का आश्वासन दिया है। इसके लिए उन्होंने एसआईटी गठित की है जिससे वह आश्वस्त हैं कि सच्चाई जल्दी ही सामने आ जायेगी। उन्होंने हाथरस मामले में कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी की ओर इशारा और अपील करते हुए कहा, “हर कोई मदद के लिए वहां पहुंचे, राजनीति के लिए नहीं।”

उन्होंने कहा कि योगी ने प्रारंभिक रिपोर्ट के आधार पर कई पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की है तथा आने वाले समय में इसी प्रकार की कार्रवाई हो सकती है। ईरानी ने कहा कि केंद्र की सत्ता में रहते हुए कांग्रेस ने महिलाओं की सुरक्षा के प्रति उदासीन रवैया अपनाया लेकिन श्री मोदी ने राज्यों को निर्भया फंड से नौ हजार करोड़ रुपये राज्यों को दिया। इतना ही नहीं उस फंड का उपयोग महिलओं की सुरक्षा के लिए करने के लिए बार-बार राज्य सरकारों से आग्रह करती है।

उन्होंने कहा कि मोदी के नेतृत्व में केंद्र में भारतीय जनता पार्टी गठबंधन सरकार में वर्ष 2015 के बाद महिलाओं की सुरक्षा के लिए स्थापित महिला हेल्पलाइन नंबरों पर अब तक 55 लाख से अधिक कॉल आयी हैं। इसी प्रकार देशभर के थानों में महिला डेस्क स्थापित करना सुनिश्चित किया गया है। ये सभी कार्य महिलाओं की सुरक्षा को लेकर किये गये हैं तथा निरंतर काम चल रहा है।

केन्द्रीय मंत्री ने आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस एवं उसके सहयोगी दल महिलाओं के साथ दुर्भाग्यपूर्ण घटना पर भी राजनीतिक रोटियां सेंक रही हैं। यह उसके स्वभाव का एक हिस्सा है। वह हमेशा इसी प्रकार की हरकतें करती हैं।