जनता की परेशानी देख,CM Yogi ने अफसरों को दे डाला ये निर्देश

0
215

जनता को किसी तरह की कोई परेशानी न हो इसके लिए CM Yogi Adityanath लगातार प्रयास कर रहे हैं। ये प्रयास कितना असरदार है ये तो जनता ही जानती होगी। गोरखपुर दौरे पर आए CM Yogi ने जनता दर्शन में 800 से अधिक फरियादियों की समस्याएं सुनीं। इस दौरान उन्‍होंने अधिकारियों से नाराज़गी व्यक्त करते हुए पूछा कि थानों और तहसीलों में समस्याओं का समाधान किस प्रकार हो रहा है? उन्‍होंने कहा कि यहां आने वाले फरियादियों की भीड़ यह बताती है कि जनशिकायतों का गुणवत्तापूर्ण निस्तारण नहीं हो रहा।

असंतुष्ट लोग बार-बार एक ही समस्या लेकर आ रहे हैं जिसे देखते हुए CM Yogi ने निर्देश दिया कि पारदर्शिता के साथ पीडि़त के साथ न्याय करें। CM Yogi गोरखनाथ मंदिर स्थित हिंदू सेवाश्रम और यात्री निवास में फरियादियों से मिले। तकरीबन 800 लोगों से मिल कर उनका लिखित आवेदन लिया। बाकी करीब 300 लोगों से CM Camp कार्यालय के प्रभारी मोतीलाल सिंह ने मुलाकात कर समस्याएं सुनी। मंदिर में फरियादी सुबह 6.30 बजे ही काफी संख्या में पहुंच चुके थे।

जनता दर्शन में आए सर्वाधिक मामले ज़मीन से संबंधित राजस्व और थानों से जुड़े थे। इनमें ऐसे कई मामले थे जो पहले भी जनता दर्शन में CM Yogi के सामने आए थे लेकिन फरियादी निस्तारण की कार्रवाई से संतुष्ट नहीं थे। कुछ मामलों में तो जमीनों की पैमाइश किए बिना ही, दोनों पक्षों पर थानों से निरोधात्मक कार्रवाई कर निस्तारण कर दिया गया था। इस पर CM Yogi ने सवाल खड़े किए। तमाम मामले जमीन विवाद में हिस्सा और घरेलू हिंसा के भी आए। मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से लोगों ने उपचार के लिए भी CM Yogi से गुहार लगाई जिस पर उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि ऐसे प्रार्थना पत्रों का इस्टीमेट बनवा कर शासन को भेजें। उन्‍होंने कहा कि किसी व्यक्ति का उपचार पैसे के अभाव में नहीं रुकना चाहिए।

यह भी पढ़ें – कलयुगी बेटे के पास मां के अंतिम संस्कार के लिए नहीं है वक़्त, कई दिनों से अपनों की राह देख रहा शव

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है