लोन की EMI भरने वालों के लिए राहत, RBI ने लिया बड़ा फैसला

0
724
rbi

31 अगस्त तक नहीं चुकानी होगी लोन की किश्त,लॉकडाउन के बाद चुकाना होगा ब्याज़RBI, SBI, CANARA

कोरोना वायरस के चलते देश आर्थिक मंदी से गुजर रहा है ऐसे में कारोबारियों की भी परेशानियां बढ़ चुकी हैं, कई कारोबारियों ने लोन भी लिया हुआ है जिसकी EMI चुकाने की चिंता उन सभी को थी क्योंकि सभी कारोबार बंद थे इसके अलावा ना को किसी भी तरह की कोई इनकम हो रही थी और ना ही कोई और सहूलियत मिली।

सभी परेशानियों को देखते हुए और देश के सबसे बड़े कर्जदाता SBI ने अपनी रिसर्च रिपोर्ट के अनुसार सरकार के द्वारा लॉकडाउन की अवधि मई अंत तक बढ़ाने के के बाद भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) लोन मोरेटोरियम 3 महीने के लिए बढ़ा दिया है। इसका मतलब अगर आपने लोन लिया हुआ है तो आपके लोन की किश्त अब 3 महीने और नहीं कटेगी यानि कि 31 अगस्त EMI की टेंशन न लें। 31 अगस्त के बाद इस अवधि का ब्याज आपसे ले लिया जायेगा।

CKP को-ऑपरेटिव बैंक का लाइसेंस रद्द, वित्तीय अनियमित्ता के चलते RBI ने लिया फैसला

बता दें कि भारतीय रिज़र्व बैंक की 27 मार्च की अधिसूचना के अनुसार मार्च, अप्रैल और मई तक के लिए ईएमआइ चुकाने के बोझ से मुक्त किया था लेकिन अब लॉकडाउन फिर से बढ़ने के बाद एक बार फिर RBI ने EMI न भरने की तारीख बढ़ा दी है। हालांकि लॉकडाउन के बाद में ये कर्ज़ चुकानो पड़ेगा। वहीं आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांता दास ने भी सार्वजनिक और निजी क्षेत्रों के बैंकों के प्रमुखों के साथ एक बैठक की जिसमें में कई बैंकों ने आरबीआई को मोरोटोरियम सुविधा को 3 महीनों के लिए और बढ़ाने का सुझाव दिया था।

सभी बैंकों का कहना था कि इस अतिरिक्त अवधि के बाद ही कारोबार में कैशफ्लो का मूल्यांकन किया जा सकता है। इसके अलावा बैंकों के द्वारा ज्यादा कर्ज देने के लिए बैंकों को प्रोत्साहित करना भी जरूरी है जिसके लिए आरबीआई ने रेपो दर को 0.75 फीसदी से घटाकर 4.4 फीसदी कर दिया है और रिवर्स रेपो दर को भी घटाकर 3.75 फीसदी कर दिया गया, ताकि बैंक प्रणाली में मौजूद सरप्लस फंड का उपयोग कर्ज देने में कर सकें।

PMC बैंक के बाद अब इस बैंक पर RBI ने चलाई पाबंदी की तलवार

साथ ही सार्वजनिक क्षेत्र के अग्रणी कर्जदाता केनरा बैंक ने गोल्ड लोन का कारोबार भी शुरू किया है। बैंक का कहना कि वो कोविड-19 के चलते संकट में फंसे लोगों को ये सुविधा दी जायेगी। इसके तहत ग्राहक अपना सोना गिरवी रख 30 जून 2020 तक 7.85% सालाना की दर पर लोन भी ले सकता है। इस लोन का उपयोग कृषि कार्यों, स्वास्थ्य जरूरतों या अन्य व्यक्तिगत खर्च के लिए किया जा सकता है। जिसके लिए ग्राहकों के पास इस लोन को चुकाने के लिए एक से तीन वर्ष तक की अवधि होगी। ऐसी आशंका जतायी गयी थी कि अप्रैल-जून तिमाही में भारतीय अर्थव्यवस्था में लंबे समय के बाद काफी बड़ी गिरावट देखने को मिलेगी, क्योंकि कोरोनावायरस के चलते लॉकडाउन के कारण आर्थिक गतिविधियां पूरी तरह से बदं थी।

लेकिन देखने वाली बात है कि लॉकडाउन की अवधि बढ़ते ही EMI चुकाने की तारीख भी आगे बढ़ा दी गयी आने वाले समय में देश की अर्थव्यवस्था और जनता को सहूलियत देने के लिए सरकार और क्या क्या कदम उठाती है।

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है