कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष Rahul Gandhi ने एक Press Conference के दौरान मोदी सरकार पर जमकर वार किया। इतना ही नहीं उन्होंने सीधे PM Modi पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने सब कुछ बेच दिया।

राष्ट्रीय मौद्रीकरण योजना (NMP) को लेकर कांग्रेस नेता Rahul Gandhi ने PM Modi और उनकी सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने युवाओं के हाथों से रोजगार छीन लिया। PM Modi अपने ‘मित्रों’ की मदद कर रहे हैं। Corona में सरकार ने कोई मदद नहीं की।

Rahul Gandhi ने कहा, “Roadway, Railway, Power Sector, Petroleum Pipeline, Telecom, Warehousing, Mining, Airport, Port, Stadium ये सब किसको जा रहा है? इन सबको बनाने में 70 साल लगे हैं। ये तीन-चार लोगों को दिया जा रहा है, आपका भविष्य बेचा जा रहा है। तीन-चार लोगों को तोहफे में दिया जा रहा है।” उन्होंने आंकड़ों का जिक्र करते हुए दावा किया कि सरकार ने 400 स्टेशन, 150 ट्रेनें, पावर ट्रांसमिशन का नेटवर्क, पेट्रोलियम का नेटवर्क, सरकारी गोदामों, 25 Airport और 160 कोयला खदानों को बेच दिया। East India Company के समय भी एकाधिकार था। हम गुलामी की तरफ बढ़ रहे हैं।

Rahul Gandhi ने कहा, “हम निजीकरण के खिलाफ नहीं है। हमारा निजीकरण तार्किक था। घाटे वाली कंपनी का निजीकरण करते थे ना कि रेलवे जैसी महत्वपूर्ण विभाग की। अब निजीकरण मोनोपोली बनाने के लिए किया जा रहा है। मोनोपोली से रोजगार मिलना बंद हो जाएगा।”

पूर्व वित्तमंत्री और कांग्रेस के सीनियर नेता पी चिदंबरम ने कहा कि सरकार बिना किसी लक्ष्य और पैमाना तय किए इतना बड़ा फैसला कर लिया। किसी से चर्चा भी नहीं की गई। नीति आयोग में सब कुछ तय हो गया। इस कार्यवाही के बाद सार्वजनिक क्षेत्र नहीं बचेगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने इससे 6 लाख करोड़ जुटाने की बात कही है। जबकि प्रधानमंत्री ने बीते तीन स्वतंत्रता दिवस को 100 लाख करोड़ के इंफ्रास्ट्रक्चर पाइपलाइन की घोषणा कर चुके हैं। यह घोटाला है।

यह भी पढ़ें: Narayan Rane की मुश्किलें बढ़ीं, रत्नागिरी पुलिस ने किया गिरफ्तार

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है