Ankita Bhandari की मां का सवाल, ‘क्या किसी का भी अंतिम संस्कार देर शाम को किया जाता है’

0
289

देश की एक बेटी Ankita Bhandari कुछ मक्कार लोगों से ख़ुद को बचाने के चक्कर में इस दुनिया से चली गई। अब Ankita Bhandari की मां ने प्रशासन से सवाल पूछा है कि उनकी बेटी के अंतिम संस्कार की आखिर इतनी जल्दी क्यों की गई? मां ने अपना दर्द बयां करते हुए कहा कि अंतिम संस्कार से पहले वह एक बार अपनी बेटी को देख लेना चाहती थीं। कहा कि तबीयत खराब होने की वजह से वह अस्पताल में भर्ती थीं, और प्रशासन ने उन्हें बिना बताए उनकी बिटिया का जल्दबाजी में अंतिम संस्कार कर दिया।

Ankita Bhandari की मां का सवाल है कि क्या किसी का भी अंतिम संस्कार देर शाम को किया जाता है? मां का आरोप है कि प्रशासन ने उन्हें धोखे में रखकर बिटिया का अंतिम संस्कार कर दिया। मां कहती हैं कि देश की सभी बेटियां सुरक्षित रहनी चाहिए और Ankita Bhandari के हत्यारोपियों को सख्त से सख्त दी जानी चाहिए। परिजनों का आरोप है कि अंकिता के पिता पर प्रशासन द्वारा अंतिम संस्कार करने को दबाव बनाया गया।

एम्स ऋषिकेश में Ankita Bhandari का पोस्टमार्टम होने के बाद शव को शनिवार देर रात श्रीनगर लाया गया था। रविवार को अंकिता के परिजनों और प्रदर्शनकारियों ने अंकिता के हत्यारोपियों को कड़ी सजा दिलाए जाने की मांग को लेकर विरोध प्रर्दशन कर बदरीनाथ हाईवे जाम कर दिया था। पौड़ी डीएम और पुलिस अधिक्षक के समझाने के बाद भी लोगों का प्रदर्शन जारी रहा था। आखिरकार, रविवार देर शाम को Ankita Bhandari का अंतिम संस्कार एनआईटी घाट पर किया गया था।

एसडीएम अजयवीर सिंह से बात करने पर उन्होंने कहा कि वह अभी मीटिंग में हैं, और बाद में बात करेंगे। एसडीएम अजयवीर सिंह ने बताया कि पब्लिक के विरोध प्रदर्शन के बीच परिजन अंतिम संस्कार को लेकर भ्रमित थे। प्रशासन द्वारा समझाने के बाद परिजन अंतिम संस्कार को तैयार हो गए थे और प्रदर्शनकारियों द्वारा ही Ankita Bhandari के शव को घाट ले जाया गया, जहां पर उसका अंतिम संस्कार किया गया।

यह भी पढ़ें – नवरात्र, दशहरा, दिवाली पर न हो कोई गड़बड़ी इसके लिए CM Yogi ने दे डाला आदेश

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है