पंजाब और केंद्र सरकार के बीच घमासान,अमरिंदर और सिद्धू जंतर-मंतर पर धरने पर बैठे

0
570
Amrainder Singh

राष्ट्रपति की ओर से मुलाकात के लिए समय देने से मना करने के बाद पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह बुधवार को दिल्ली के जंतर-मंतर पर धरने पर बैठ गए हैं। कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ यहां पर नवजोत सिंह सिद्धू के साथ ही सभी मंत्री और कांग्रेसी विधायक धरना दे रहे हैं। इस धरने के जरिए केंद्र सरकार द्वारा मालगाड़ियां रोकने के कारण राज्य में बिजली संकट और जरूरी वस्तुओं की स्थिति गंभीर होने की ओर ध्यान दिलाने की कोशिश है।

कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के लगातार विरोध के चलते केंद्र सरकार ने पंजाब में रेल सेवा रोक दी है. पंजाब में रेल सेवा रोके जाने के बाद से ब्लैक आउट का खतरा बढ़ गया है। इस मुद्दे पर धरना देने के लिए सीएम अमरिंदर सिंह  कांग्रेस विधायकों और पार्टी के अन्य नेताओं के साथ दिल्ली पहुंचे हैं।

असल में, पंजाब में तीन से चार घंटे तक बिजली की कटौती होने लगी है खाद की किल्लत होने लगी है। उद्योगों में सामान का स्टॉक बढ़ने लगा है। पंजाब सरकार ने इन सब मसलों को लेकर केंद्र के खिलाफ विरोध जताना शुरू कर दिया है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह दिल्ली में धरना देने के लिए पहुंचे हैं। कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू भी धरने पर बैठे हैं। धरना पर बैठने से पहले कैप्टन अमरिंदर सिंह कांग्रेस सांसदों के साथ राजघाट पहुंचे. कांग्रेस के विधायक भी राजघाट से जंतर मंतर पहुंचे हैं।