जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी सफलता

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा  में सुरक्षाबलों को बड़ी सफलता मिली है। पुलवामा के जदूरा इलाके में शुक्रवार रात शुरु हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को मार गिराया है। 24 घंटे में यहां कुल सात आतंकी मारे गये हैं। मारे गए आतंकियों की पहचान आदिल हाफिज निवासी डालीपोरा पुलवामा, राउफ निवासी मुसपुना, अरशिद निवासी द्रबगाम के तौर पर हुई है। आदिल वर्ष 2019 से कश्मीर में सक्रिय था जबकि राउफ और अरशिद एक सप्ताह पहले ही संगठन में शामिल हुए थे।

पुलवामा हमले से किसे फायदा हुआ, क्या जवाबदेही तय हुई?: Rahul Gandhi

कर्नल कालिया ने बताया कि मुठभेड़ स्थल से एक एके राइफल और दो पिस्तौल सहित भारी मात्रा में हथियार एवं गोला-बारूद और आपत्तिजनक सामग्री बरामद की गई है। उन्होंने बताया कि अंतिम सूचना मिलने तक अभियान जारी था। इससे पहले शुक्रवार को शोपियां में एनकाउंटर के दौरान सुरक्षाबलों ने 4 आतंकवादियों को मार गिराया। इस  तरह से देखा जाए तो बीते 24 घंटे में सुरक्षाबलों ने 7 आतंकियों को मौत के घाट उतारा है।हालांकि, इस दौरान सेना का एक जवान भी शहीद हो गया। बता दें कि कश्मीर बीते 24 घंटे में एनकाउंटर की यह दूसरी घटना है और इसमें अब तक सात आतंकवादी मारे जा चुके हैं।रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने बताया कि आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया सूचना के आधार पर जम्मू-कश्मीर पुलिस के विशेष अभियान समूह, राष्ट्रीय राइफल और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के जवानों ने पुलवामा के जदूरा में शुक्रवार देर रात तलाश अभियान शुरू किया।

पुलवामा अटैक की पूरी कहानी मुजबानी…

उन्होंने बताया कि सुरक्षा बल के जवान जब लक्षित क्षेत्र की ओर आगे बढ़ रहे थे तभी वहां छिपे हुए आतंकवादियों ने उन पर स्वचालित हथियारों से अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी। सुरक्षा बलों ने भी जवाबी कार्रवाई की जिसके साथ ही मुठभेड़ शुरू हो गई। इस मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गये और एक जवान घायल हो गया। घायल जवान को अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई।

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है